बुधवार, 29 जुलाई, 2015 | 19:01 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
याकूब के परिवार को शव सौंपा जाएगा, कल सुबह 7 बजे नागपुर जेल में दी जाएगी याकूब को फांसी
गुजरात विधानसभा चुनाव: नरेन्द्र मोदी को श्वेता भट्ट की चुनौती
अहमदाबाद, एजेंसी First Published:30-11-2012 11:30:36 AMLast Updated:30-11-2012 01:44:39 PM

गुजरात में निलंबित आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट की पत्नी श्वेता भट्ट ने शुक्रवार को घोषणा की कि वह आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर शहर के मणिनगर विधानसभा क्षेत्र से राज्य के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ेंगी।
     
श्वेता भट्ट ने कहा कि हां, मैं मणिनगर से मोदी के खिलाफ कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लडूंगी। उन्होंने कहा कि हम गुजरात में लोकतंत्र से काफी दूर हट गए हैं और इसकी बहाली के लिए सभी को प्रयास करना होगा। मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ना लोकतंत्र के लिए हमारे प्रयास और लोकतंत्रविरोधी ताकतों को रोकने के लिए एक तार्किक कदम है।
     
उन्होंने कहा कि वह अपना नामांकन पत्र जल्द दाखिल करेंगी। संजीव भट्ट ने गत वर्ष उच्चतम न्यायालय में दायर एक हलफनामे में वर्ष 2002 के दंगों में मोदी पर कथित सहअपराध के आरोप लगाये थे। भट्ट ने इसके साथ दंगों की जांच करने वाले नानावती आयोग के समक्ष मोदी के खिलाफ गवाही भी दी थी।
     
भट्ट एसआरपी प्रशिक्षण विद्यालय के प्रिसिंपल थे और राज्य सरकार ने उन्हें बाद में निलंबित कर दिया था। गुजरात विधानसभा चुनाव में कई दिग्गजों के नामांकन का आज दिन है। मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी मणिनगर से नामांकन दाखिल करने वाले हैं।

पर्चा भरने से पहले नरेंद्र मोदी आम लोगों से मुखातिब होंगे। इस मौके पर पार्टी कार्यकर्ताओं और आम लोगों की भारी भीड़ जुटने की उम्मीद है। अमित शाह नारनपुरा में पर्चा दाखिल करने वाले हैं। गुजरात कांग्रेस के दिग्गज शंकर सिह वाघेला भी आज पर्चा दाखिल करने वाले हैं। वे खेड़ा के कापड़वंज में नामांकन दाखिल करेंगे। इस तरह गुजरात में सियासी सरगर्मी दिनोंदिन बढ़ती ही जा रही है।

गुजरात के सीएम नरेंद्र मोदी शुक्रवार दोपहर को 12.39 मिनट पर अपना पर्चा दाखिल करेंगे। इससे पहले उन्होंने हाईटेक प्रचार की मदद ली और सूबे के 26 शहरों में एक साथ लोगों को संबोधित किया।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingहितों के टकराव के करार में कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए: गांगुली
भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने कहा है कि हितों के टकराव के करार पर हस्ताक्षर करने से डरने की कोई वजह नहीं है और क्रिकेट को साफ सुथरा बनाने के लिए बीसीसीआई के इस कदम को सकारात्मक लिया जाना चाहिए।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड