रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 12:25 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    एयर इंडिंया के कई पायलट खत्म लाइसेंस पर उड़ा रहे हैं विमान राजनाथ ने युवाओं से शांति और सौहार्द का संदेश फैलाने को कहा  शीतकालीन सत्र से पहले नए योजना निकाय का गठन कर सकती है सरकार  आज मोदी की चाय पार्टी में शामिल हो सकते हैं शिवसेना सांसद शिक्षिका ने की थी गोलीबारी रोकने की कोशिश नांदेड-मनमाड पैसेजर ट्रेन के डिब्बे में आग,यात्री सुरक्षित दिल्ली के त्रिलोकपुरी में हिंसा के बाद बाजार बंद, लगाया गया कर्फ्यू मनोहर लाल खट्टर ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, मोदी भी हुये शामिल राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर
राहुल ने बोला हमला, मोदी को बताया मार्केटियर
साणंद, एजेंसी First Published:11-12-12 04:12 PMLast Updated:11-12-12 06:21 PM
Image Loading

गुजरात विधानसभा चुनाव प्रचार में पहली बार उतरे कांग्रेसी नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए उन्हें राज्य की प्रगति के बारे में झूठा प्रचार करने वाला मार्केटियर बताया।

राहुल ने यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि गुजरात में जनता की आवाज नहीं सुनी जाती। गुजरात सरकार और मुख्यमंत्री आपको नहीं सुनना चाहते। वह केवल अपनी आवाज सुनना चाहते हैं। उनका अपना सपना है और वह केवल अपने सपने के बारे में सोचते हैं। एक सच्चा नेता जनता के सपने को अपना सपना बनाता है।

टाटा मोटर्स ने सिंगूर की जगह साणंद में ही नैनो कार का कारखाना लगाया है। कांग्रेस महासचिव ने दावा किया कि यह झूठा प्रचार किया गया है कि गुजरात हर क्षेत्र में प्रगति कर रहा है, लेकिन इसके विपरीत राज्य में अंधाधुंध भ्रष्टाचार है, बेरोजगारी बहुत ज्यादा है और हर क्षेत्र में नाकामी है।

उन्होंने कहा कि मार्केटियर कह रहे हैं कि गुजरात चमक रहा है, लेकिन मुझे बताइये कि लोगों को कितने घंटे पानी मिलता है, लोगों को हर तीन दिन में 25 मिनट पानी मिलता है। लेकिन मार्केटियर कह रहे हैं कि गुजरात चमक रहा है। गुजरात में 10 लाख बेरोजगार हैं, लेकिन मार्केटियर कह रहे हैं कि गुजरात चमक रहा है।

राहुल ने कहा कि गरीबों की आवाज गुजरात में दबा दी जाती है क्योंकि नेता आम आदमी की चिंताओं को सुनना नहीं चाहते। उन्होंने कहा कि गांधी जी और नेहरू जी हमेशा जनता की आवाज सुनना चाहते थे। वे सच्चे नेता थे।

कांग्रेसी नेता ने दावा किया कि गुजरात में विपक्ष की भी आवाज नहीं सुनी जाती क्योंकि विधानसभा में एक साल में केवल 25 दिन बैठक होती है और अक्सर विपक्ष के नेताओं को सदन से बाहर कर दिया जाता है।

राहुल ने कहा कि गुजरात में लोकायुक्त नहीं है और 14 हजार आरटीआई आवेदन लंबित हैं क्योंकि सरकार कोई सूचना बाहर नहीं जाने देना चाहती वरना उसकी पोल खुल जाएगी।

 
 
 
 
टिप्पणियाँ