सोमवार, 06 जुलाई, 2015 | 10:36 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    आयुध फैक्टरियों में 67 हजार पदों को भरने की प्रक्रिया जल्द होगी शुरू दिल्ली: सवा सौ साल पुराना जर्जर पुल अब बनेगा ऐतिहासिक विरासत खुशखबरी: वेस्ट यूपी में 500 जगहों को वाईफाई करेगा बीएसएनएल यूपी: चलती गाड़ी में छात्रा के साथ रेप के बाद रेलवे स्टेशन पर फेंका पहले दिया संवेदनहीन बयान, अब पत्रकार अक्षय के घर जाएंगे कैलाश विजयवर्गीय पत्रकार अक्षय के विसरा जांच एम्स में होगी, परिवार की मांग मंजूर अक्षय की मौत स्वाभाविक नहीं, व्यापमं गिरोह ने की हत्या: भूरिया पाकिस्तान ने किया संघर्षविराम का उल्लंघन, बीएसएफ जवान शहीद लालू की हैसियत महुआ रैली में उजागर, नीतीश को पक्का मारेंगे लंगड़ीः पासवान एयरइंडिया के यात्री ने की खाने में मक्खी की शिकायत
राहुल ने बोला हमला, मोदी को बताया मार्केटियर
साणंद, एजेंसी First Published:11-12-12 04:12 PMLast Updated:11-12-12 06:21 PM
Image Loading

गुजरात विधानसभा चुनाव प्रचार में पहली बार उतरे कांग्रेसी नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए उन्हें राज्य की प्रगति के बारे में झूठा प्रचार करने वाला मार्केटियर बताया।

राहुल ने यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि गुजरात में जनता की आवाज नहीं सुनी जाती। गुजरात सरकार और मुख्यमंत्री आपको नहीं सुनना चाहते। वह केवल अपनी आवाज सुनना चाहते हैं। उनका अपना सपना है और वह केवल अपने सपने के बारे में सोचते हैं। एक सच्चा नेता जनता के सपने को अपना सपना बनाता है।

टाटा मोटर्स ने सिंगूर की जगह साणंद में ही नैनो कार का कारखाना लगाया है। कांग्रेस महासचिव ने दावा किया कि यह झूठा प्रचार किया गया है कि गुजरात हर क्षेत्र में प्रगति कर रहा है, लेकिन इसके विपरीत राज्य में अंधाधुंध भ्रष्टाचार है, बेरोजगारी बहुत ज्यादा है और हर क्षेत्र में नाकामी है।

उन्होंने कहा कि मार्केटियर कह रहे हैं कि गुजरात चमक रहा है, लेकिन मुझे बताइये कि लोगों को कितने घंटे पानी मिलता है, लोगों को हर तीन दिन में 25 मिनट पानी मिलता है। लेकिन मार्केटियर कह रहे हैं कि गुजरात चमक रहा है। गुजरात में 10 लाख बेरोजगार हैं, लेकिन मार्केटियर कह रहे हैं कि गुजरात चमक रहा है।

राहुल ने कहा कि गरीबों की आवाज गुजरात में दबा दी जाती है क्योंकि नेता आम आदमी की चिंताओं को सुनना नहीं चाहते। उन्होंने कहा कि गांधी जी और नेहरू जी हमेशा जनता की आवाज सुनना चाहते थे। वे सच्चे नेता थे।

कांग्रेसी नेता ने दावा किया कि गुजरात में विपक्ष की भी आवाज नहीं सुनी जाती क्योंकि विधानसभा में एक साल में केवल 25 दिन बैठक होती है और अक्सर विपक्ष के नेताओं को सदन से बाहर कर दिया जाता है।

राहुल ने कहा कि गुजरात में लोकायुक्त नहीं है और 14 हजार आरटीआई आवेदन लंबित हैं क्योंकि सरकार कोई सूचना बाहर नहीं जाने देना चाहती वरना उसकी पोल खुल जाएगी।

 

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड