रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 05:05 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
दिल्ली में दस मेट्रो स्टेशन बंद, चप्पे-चप्पे पर पुलिस
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:29-12-12 10:35 AM
Image Loading

सामूहिक बलात्कार की पीड़िता की मौत के बाद इंडिया गेट पर प्रदर्शनकारियों को पहुंचने से रोकने के लिए ऐहतियातन दिल्ली पुलिस ने मध्य दिल्ली के दस मेट्रो स्टेशन अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिये हैं। इंडिया गेट के आसपास के इलाकों में चप्पे चप्पे पर पुलिस बल तैनात किया गया है।
   
गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि जिन स्टेशनों को बंद किया गया है, वे या तो इंडिया गेट या फिर रायसीना हिल्स के करीब हैं। इन्हीं दो जगहों पर पिछले सप्ताह उग्र प्रदर्शन हुआ था और पुलिस को बलप्रयोग करना पड़ा था।
   
अधिकारी के मुताबिक जिन स्टेशनों को बंद किया गया है, वे प्रगति मैदान, मंडी हाउस, बाराखंभा रोड, राजीव चौक, पटेल चौक, केन्द्रीय सचिवालय, उद्योग भवन, रेस कोर्स, खान मार्केट और जोरबाग हैं।
   
राजीव चौक और केन्द्रीय सचिवालय मेट्रो स्टेशनों पर यात्रियों को आने-जाने की इजाजत नहीं होगी, लेकिन वहां वे ट्रेनों की अदला बदली कर सकते हैं।
   
अधिकारी ने कहा कि मेट्रो स्टेशन बंद करने का निर्णय दिल्ली पुलिस ने किया है। पुलिस प्रदर्शनकारियों को किसी भी कीमत पर इंडिया गेट पहुंचने से रोकना चाहती है।
   
पिछले सप्ताह भी पुलिस ने ऐसा ही कदम उठाते हुए जोरबाग को छोड़ बाकी नौ मेट्रो स्टेशन बंद कर दिये थे। मेट्रो के अलावा इंडिया गेट पहुंचने वाले सड़क मार्गों पर भी अवरोधक लगा दिये गये हैं और वाहनों की आवाजाही बंद है।
   
इंडिया गेट और रायसीना हिल्स के आसपास के इलाकों में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है, ताकि प्रदर्शनकारियों को इन जगहों पर पहुंचने से रोका जा सके।
 
 
 
टिप्पणियाँ