मंगलवार, 05 मई, 2015 | 16:45 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
बलात्कार के दोषियों को कड़ी सजा मिलेगी: शिन्दे
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:29-12-12 10:38 AM
Image Loading

सामूहिक बलात्कार की शिकार युवती की मौत पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए केन्द्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिन्दे ने आज वायदा किया कि कानून को और कड़ा किया जाएगा, ताकि इस तरह की वारदात की पुनरावृत्ति को रोका जा सके।
   
शिन्दे ने कहा कि 23 वर्षीय छात्रा को सच्ची श्रद्धांजलि यही होगी कि बलात्कार के दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिले। मृतका के परिजनों को भेजे संदेश में शिन्दे ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि वह कानून को मजबूत करने के लिए कार्य करेंगे और सुनिश्चित करेंगे कि इस तरह की वारदात फिर कभी न होने पाये।
   
छात्रा के साथ 16 दिसंबर की रात छह पुरूषों ने दक्षिण दिल्ली में चलती बस में सामूहिक बलात्कार और बर्बरता की थी। 13 दिन से जिन्दगी और मौत के बीच झूल रही युवती की आज तड़के सिंगापुर के अस्पताल में मौत हो गयी।
   
इस बीच गृह राज्य मंत्री आरपीएन सिंह ने मृतका के परिजनों को आश्वासन दिया है कि सरकार यह सुनिश्चित करने की दिशा में कार्य करेगी कि छात्रा के हत्यारों को तत्काल कड़ी से कड़ी सजा मिले।
   
सिंह ने संवाददाताओं से कहा कि सरकार कानून में संशोधन के लिए दिन रात एक कर कार्य करेगी और सुनिश्चित किया जाएगा कि देश के किसी अन्य नागरिक को इस हैवानियत से न गुजरना पड़े।
   
लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार और भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी ने भी छात्रा की मौत पर शोक व्यक्त किया है। सामाजिक कार्यकर्ता एवं पूर्व आईपीएस अधिकारी किरन बेदी ने कहा कि हर पुलिसकर्मी को प्रार्थना करनी चाहिए और महिलाओं के खिलाफ अपराधों से निपटने में सामूहिक विफलता के लिए जनता से माफी मांगनी चाहिए।
   
आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि छात्रा की मौत हम सबके लिए शर्मिन्दगी और गहरे दुख की बात है। उन्होंने सवाल किया कि क्या हम उस छात्रा की मौत के लिए जिम्मेदार नहीं हैं, क्या हम ऐसा कुछ कर सकते हैं कि देश की आधी आबादी हमारे बीच सुरक्षित महसूस कर सके।

 
 
 
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
जरूर पढ़ें
Image Loadingगौतम गंभीर ने की अपनी टीम की तारीफ
सनराइजर्स हैदराबाद को 35 रन से हराने के बाद कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान गौतम गंभीर ने कहा कि उनकी टीम ने काफी पेशेवर प्रदर्शन कर दिखाया और हर किसी ने अपना योगदान दिया।