सोमवार, 25 मई, 2015 | 10:37 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    ये हैं मोदी सरकार की 25 बड़ी उपलब्धियां और 25 चुनौतियां सेक्सी नहीं, फाइटर के रूप में पहचान चाहती हैं रोसी ट्रांसफार्मर में आग लगी, तार टूट कर गिरा, भगदड़ CBSE 12वीं का रिजल्ट आज, गणित में मिलेंगे ग्रेस मार्क्स नोबेल पुरस्कार विजेता मशहूर अर्थशास्त्री जॉन नैश का निधन 'आप' के सौ दिन, केजरीवाल करेंगे ओपन कैबिनेट मीटिंग मथुरा में आज मोदी की रैली, धमकी देने वाला गिरफ्तार रोहित शर्मा के लिए एक बार फिर लकी साबित हुआ ईडन गार्डन मोदी सरकार को केजरीवाल से एलर्जी: सिसोदिया  चेन्नई सुपरकिंग्स को हराकर मुंबई इंडियन्स बना आईपीएल चैम्पियन
किडनी प्रतिरोपण की शुरुआत करने वाले जोसेफ मरे का निधन
बोस्टन, एजेंसी First Published:27-11-12 02:28 PMLast Updated:27-11-12 03:28 PM
Image Loading

विश्व में सफलतापूर्वक पहली किडनी प्रतिरोपित करने वाले और अपने श्रेष्ठ काम के लिए नोबेल पुरस्कार प्राप्त करने वाले डॉक्टर जोसेफ इ मरे का 93 साल की उम्र में निधन हो गया।

अस्पताल के प्रवक्ता टॉम लेंगफोर्ड ने बताया कि गुरुवार को मरे को उपनगरीय बोस्टन स्थित उनके आवास पर मस्तिष्काघात हुआ और सोमवार को ब्रिघम एवं महिला अस्पताल में उनका निधन हो गया। मरे के एक जैसे दिखने वाले जुड़वां बच्चों में पहली बार किडनी प्रतिरोपण का ऑपरेशन करने के बाद विश्व भर में हजारों लोगों में अंग प्रतिरोपण ऑपरेशन किया गया।

डॉक्टर ई डोन्नल थामस के साथ 1990 में फिजियोलॉजी या चिकित्सा के क्षेत्र में काम करने के लिए मरे को नोबेल पुरस्कार दिया गया था। थामस ने हड्डी मज्जा प्रतिरोपण के क्षेत्र के क्षेत्र में अमूल्य शोध किया था। नोबुल पुरस्कार जीतने के बाद मरे ने न्यूयॉर्क टाइम्स से कहा था कि अब तो किडनी प्रतिरोपण सामान्य काम लगता है, लेकिन पहला ऑपरेशन बेहद कठिन था।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड