गुरुवार, 30 अक्टूबर, 2014 | 19:58 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    सिख दंगा पीड़ितों के परिजनों को पांच लाख देगा केंद्र अपमान से आहत शिवसेना ने किया फडणवीस के शपथ ग्रहण का बहिष्कार सरकार का कटौती अभियान शुरू, प्रथम श्रेणी यात्रा पर प्रतिबंध बेटे की दस्तारबंदी के लिए बुखारी का शरीफ को न्यौता, मोदी को नहीं कालेधन मामले में सभी दोषियों की खबर लेगा एसआईटी: शाह एनसीपी के समर्थन देने पर शिवसेना ने उठाये सवाल 'कम उम्र के लोगों की इबोला से कम मौतें'  श्रीलंका में भूस्खलन में 100 से अधिक लोग मरे स्वामी के खिलाफ मानहानि मामले की सुनवाई पर रोक मायाराम को अल्पसंख्यक मंत्रालय में भेजा गया
जीपीएस एप्लीकेशन लाएगा सड़क दुर्घटनाओं में कमी
तेल अविव, एजेंसी First Published:05-01-13 08:52 PM

'वेज' जैसी जीपीएस ट्रैफिक एप्लीकेशन के जरिए सबसे अधिक दुर्घटना वाले स्थानों पर पुलिस की उचित तैनाती कर सड़क दुर्घटनाओं को कम किया जा सकता है। यह जानकारी हाल ही में हुए एक अध्ययन से मिली है।

वेज लोकेशन डाटा को रिकार्ड करता है और उपयोगकर्ताओं को यातायात, दुर्घटनाओं और पुलिस उपस्थिति सहित अन्य तरह की जानकारी अपलोड और उस पर टिप्पणी करने की आजादी देता है।

वेज वेबसाइट का कहना है कि दुनिया भर में उसके लगभग तीन करोड़ उपयोगकर्ता हैं। वेबसाइट ने स्वयं का वर्णन एकसमुदाय आधारित ट्रैफिक और नेविगेशन एप्लीकेशन के रूप में किया है, जिसके उपयोगकर्ता वास्तविक समय पर यातायात और सड़क की जानकारी साझा कर समय और इंधन की बचत कर सकते हैं।

अध्ययन का नेतृत्व करने वाले बेन-गुरियन यूनिवर्सिटी ऑफ नेगेव (बीजीयू) के पीएचडी के छात्र माइकल फायर ने बताया, ''केवल अब हम दैनिक रूप से बड़ी मात्रा में एकत्र डाटा की क्षमता की खोज की शुरुआत कर रहे हैं।''

विश्वविद्यालय के बयान के अनुसार, ''यातायात दुर्घटनाओं जैसी घटनाओं की समय से निगरानी करने सम्बंधी यह अध्ययन पुलिस को वास्तविक समय पर सड़क के खतरे वाले स्थानों की पहचान और उसके विकल्पों का पता लगाने में मदद प्रदान करेगा।''

 
 
 
टिप्पणियाँ