मंगलवार, 23 दिसम्बर, 2014 | 09:52 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
झारखंड: भाजपा-48, झारखंड मुक्ति मोर्चा-21, कांग्रेस-6, झारखंड विकास मोर्चा-4 और अन्य-2 सीटों पर आगेजम्मू कश्मीर : भाजपा-26, पीडीपी-23, एनसी-18, कांग्रेस-13 और अन्य-7 सीट से आगेअमीरा कदल से भाजपा उम्मीदवार हिना भट्ट ने कहा, जम्मू कश्मीर में लोगों का दिल जीताझारखंड: पोडैयाहाट विधानसभा में जेवीएम प्रत्‍याशी प्रदीप यादव 3000 वोट से भाजपा के देवेंद्र नाथ सिंह से आगे।झारखंड: महागामा विधानसभा में भाजपा प्रत्‍याशी अशोक भगत 8000 वोट से जेवीएम के शाहीद इकबाल से चल रहे हैं आगे।झारखंड: गोड्डा विधानसभा में राजद के संजय यादव 600 वोट से आगे। भाजपा के रघुमंडल चल रहे हैं पीछे।झारखंड: कोल्हान में कांटे की टक्कर, तीन पर भाजपा और तीन पर झामुमो आगेझारखंड: गिरिडीह सीट से भाजपा प्रत्‍याशी निर्भय शहबादी झाविमो सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी से 3900 वोट से आगे चल रहे हैं।झारखंड: गिरिडीह जिले के जमुआ सीट से भाजपा प्रत्‍याशी केदार हाजरा 302 वोट से आगेझारखंड: जगन्नाथपुर विधानसभा सीट पर पूर्व मुख्यमंत्री मधुकोड़ा की पत्नी गीता कोड़ा कांग्रेस के सन्नी सिंकू से आगेझारखंड: बोकारो जिले के बेरमो सीट से कांग्रेस प्रत्‍याशी राजेंद्र प्रसाद सिंह भाजपा उम्‍मीदवार से पीछेझारखंड: बोकारो जिले के चंदनकियारी सीट से झाविमो उम्‍मीदवार अमर बाउरी आगेझारखंड: बोकारो सीट से भाजपा प्रत्‍याशी विरंची नारायण कांग्रेस प्रत्‍याशी मंजूर अंसारी से 364 वोट से पीछेझारखंड: साहिबगंज जिले के बोरियो सीट से झामुमो प्रत्‍याशी लोबिन हेंब्रम 1769 वोटों से आगेझारखंड: साहिबगंज जिले के राजमहल सीट से भाजपा प्रत्‍याशी अनंत ओझा दो हजार वोटों से आगेजम्मू कश्मीर : पीडीपी के सज्जाद लोन हंदवाड़ा से आगे चल रहे हैंझारखंड: दुमका से हेमंत सोरेन पीछे चल रहे हैंजम्मू कश्मीर : भाजपा के प्रत्याशी रमन भल्ला गांधीनगर से आगे चल रहे हैंजम्मू कश्मीर : उमर अब्दुल्लाह सोनवार और बीरवाह सीट से आगे चल रहे हैंजम्मू कश्मीर : भाजपा-8, पीडीपी-12, एनसी-3 और कांग्रेस-1 सीट से आगेझारखंड: मधु कोड़ा मझगांव से आगे चल रहे हैंजमशेदपुर पश्चिमी से कांग्रेस प्रत्याशी एवं मंत्री बन्ना गुप्ता पिता से आशीर्वाद लेकर और मंदिर में माथा टेककर मतगणना स्थल को-ऑपरेटिव कॉलेज की ओर हुए रवानाजम्मू कश्मीर : भाजपा-7, पीडीपी-10 और एनसी-1 सीटों से आगेइचागढ़ से भाजपा के साधूचराब महातो पहले रुझान में आगे चल रहे हैं, यहां मतदान से पहले हिंसा हुई थीझारखंड : घरवा में मतगणना केंद्र के बाहर कर्मचारियों की लंबी कतार लगी हैझारखंड : सुबह 8.30 बजे देवघर में मतगणना शुरू होने की संभावनाझारखंड : धनबाद में मतगणनाकर्मी प्रभात कुमार नहीं पहुंचे मतगणना केंद्र, प्रशासन में खोजबीन शुरू, झरिया विधानसभा में थी ड्यूटीझारखंड : धनबाद, निरसा और टुंडी में मतगणना शुरूझारखंड का पहला रुझान भाजपा के पक्ष मेंझारखंड : सबसे पहले पोस्टल बैलेट की गणना हो रही है, इसके बाद ईवीएम से मतगणना शुरू होगीझारखंड : पूर्वी सिंहभूम जिले की सभी छह विधानसभा सीटों के लिए मतगणना को-ऑपरेटिव कॉलेज परिसर में शुरू हो गई हैझारखंड और जम्मू-कश्मीर विधानसभा चुनाव के नतीजों का पहला रुझान कुछ देर मेंझारखंड और जम्मू कश्मीर में हुए पांच चरणों के मतदान के बाद आज वोटों की गिनती शुरूझारखंड : घरवा में मतगणना केंद्र के बाहर कर्मचारियों की लंबी कतार लगी हैझारखंड के सभी मतगणना कर्मचारी मतगणना केंद्र पर पहुंच चुके हैंझारखंड : धनबाद सीट से भाजपा प्रत्याशी राज सिन्हा पहुंचे मतगणना केंद्रझारखंड : बोकारो में शुरू हुई मतगणना की तैयारीझारखंड के सभी महागणना केन्द्र पर सुरक्षाकर्मी तैनातश्रीनगर जिले की आठ विधानसभा सीटों के लिए शेर-ए-कश्मीर इंटरनेशनल कन्वेंशन कॉम्प्लेक्स में वोटों की गिनती की जाएगी।जम्मू कश्मीर में मतगणना में कोई अवरोध पैदा ना हो इसके लिए सरकार ने कुछ इलाकों में धारा 144 के तहत प्रतिबंध लगाया है।सुरक्षा की दृष्टि से संवेदनशील माने जाने वाले जम्मू-कश्मीर में मतगणना स्थलों की सुरक्षा के कड़े इंतजाम कर दिए गए हैं।जम्मू कश्मीर में 87 विधानसभा सीटों के लिए मतगणना होगी। राज्य में 28 महिलाओं समेत 831 प्रत्याशी मैदान में हैं।झारखंड में मतगणना का काम 24 केंद्रों में किया जाएगा।81 विधानसभा सीट वाले झारखंड में 16 महिलाओं सहित कुल 208 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला होगा।मतगणना स्थलों पर कड़ी सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं। मतगणना को लेकर प्रत्याशियों की धड़कनें बढ़ गई हैं।झारखंड में विधानसभा की 81 और जम्मू-कश्मीर में 87 सीटें हैंझारखंड में मतदान केन्द्रों के बाहर सुबह से ही सभी पार्टी के कार्यकर्ता जुटेमतगणना केन्द्रों पर तैयारियों आखिरी दौर मेंझारखंड और जम्मू-कश्मीर विधानसभा चुनाव के नतीजों के रुझान जानिए हिन्दुस्तान के साथ
पाकिस्तान को अपनी सैन्य नीति पुन: परिभाषित करनी होगी: प्रधानमंत्री
इस्लामाबाद, एजेंसी First Published:05-01-13 02:51 PM
Image Loading

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री रजा परवेज अशरफ ने आगाह किया है कि विनाशकारी ताकतें व्यवस्था को पटरी से उतारना चाहती हैं और पाकिस्तान को आतंकवाद से निपटने के लिए अपनी सैन्य नीति को समग्र रूप से पुन: परिभाषित करने की जरूरत है।
  
अशरफ ने कहा कि हमें एक ऐसी नीति पर काम करने की आवश्यकता है जो समग्र रूप से (आतंकवाद से) निपट सके। हमें इस उद्देश्य की प्राप्ति के लिए अपने सैन्य सिद्धांत को पुन: परिभाषित करने और इसका फिर से खाका तैयार करने की आवश्यकता है।
  
प्रधानमंत्री ने कल नेशनल डिफेंस यूनिवर्सिटी में अपने संबोधन में कहा कि विनाशकारी ताकतें अफरातफरी, अनिश्चितता और अस्थिरता का माहौल पैदा करना चाहती हैं। इस तरह की सभी ताकतों से लड़े जाने की जरूरत है, जो व्यवस्था को पटरी से उतारना चाहती हैं।
  
अशरफ की टिप्पणी हाल में तालिबान की ओर से हमलों में बढ़ोतरी और इन खबरों के मददेनजर आई है कि पाकिस्तानी सेना ने अपनी नीति में बड़ा फेरबदल करते हुए देश के आतंकी समूहों और अंदरूनी खतरों को सुरक्षा के लिए सबसे बड़ा खतरा बताया है।
  
प्रधानमंत्री ने कहा कि पाकिस्तान की राष्ट्रीय सुरक्षा को सरकार से इतर तत्वों से खतरा है जो अपना एजेंडा थोपने के लिए देश के प्रतीकों और प्रतिष्ठानों को निशाना बना रहे हैं। यह एक ऐसा दुश्मन है जो अनाम और अज्ञात है।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड