शनिवार, 01 नवम्बर, 2014 | 12:11 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    आम आदमी की उम्मीदों को पूरा करे सरकार: शिवसेना वर्जिन का अंतरिक्ष यान दुर्घटनाग्रस्त, पायलट की मौत केंद्र सरकार के सचिवों से आज चाय पर चर्चा करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा आज से शुरू करेगी विशेष सदस्यता अभियान आयोग कर सकता है देह व्यापार को कानूनी बनाने की सिफारिश भाजपा की अपनी पहली सरकार के समारोह में दर्शक रही शिवसेना बेटी ने फडणवीस से कहा, ऑल द बेस्ट बाबा झारखंड में हेमंत सरकार से समर्थन वापसी की तैयारी में कांग्रेस अब एटीएम से महीने में पांच लेन-देन के बाद लगेगा शुल्क  पेट्रोल 2.41 रुपये, डीजल 2.25 रुपये सस्ता
ठोस सबूत होने पर सईद के खिलाफ कार्रवाई करेगा पाक
इस्लामाबाद, एजेंसी First Published:01-12-12 03:50 PM
Image Loading

पाकिस्तान की विदेश मंत्री हिना रब्बानी खार ने शनिवार को कहा कि यदि भारत अदालत में ठोस सबूत मुहैया कराये, तो उनका देश मुंबई आतंकवादी हमले के कथित मुख्य साजिशकर्ता हाफिज सईद के खिलाफ कार्रवाई करेगा।
    
खार ने एक समाचार चैनल से कहा कि हाफिज सईद हिरासत में था और उसके खिलाफ सबूत अदालत में नहीं टिकेंगे। हम अभी भी यह कहते हैं कि हमें ऐसा कोई भी सबूत देखकर खुशी होगी जो उसके खिलाफ अदालत में टिके।
    
यह पूछे जाने पर कि यदि भारत सईद के खिलाफ सबूत मुहैया कराये तो पाकिस्तान उसके खिलाफ कार्रवाई करेगा, उन्होंने कहा, हां, निश्चित रूप से कार्रवाई होगी। वह पहले भी हिरासत में रहा है। उसके खिलाफ सबूत पर्याप्त नहीं था और उसे इसी कारण से हिरासत से रिहा किया गया।
    
नवम्बर 2008 में मुम्बई आतंकवादी हमले के बाद जमात उद दावा को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की ओर से लश्कर-ए-तैयबा का एक मुखौटा घोषित किये जाने के बाद उसके प्रमुख सईद को छह महीने से कम समय के लिए नजरबंद रखा गया था। उसे लाहौर उच्च न्यायालय के आदेश पर रिहा किया गया।
     
इसके बाद सईद को पाकिस्तान में होने वाली घटनाओं के लिए हिरासत में लिया गया लेकिन उसे फिर छोड़ दिया गया। अमेरिका ने हालांकि इस वर्ष की शुरुआत में सईद पर एक करोड़ डॉलर इनाम की पेशकश की, लेकिन सईद लाहौर में खुले तौर पर रहता है और वह श्रृंखलाबद्ध रैलियां आयोजित कर चुका है, जिसमें उसने अमेरिका और भारत के खिलाफ बोला है।
     
खार ने साक्षात्कार में कहा कि मुम्बई आतंकवादी हमले के बाद भारत के साथ माहौल बहुत खराब हो गया है। उन्होंने स्वीकार करते हुए कहा, हम मुश्किल दौर से निकल आये हैं।
     
उन्होंने कहा कि यद्यपि पाकिस्तान सरकार ने उस माहौल में बहुत व्यापक तरीके से सुधार किया। हमने विश्वास बनाने का प्रयास किया। हमने व्यापार सामान्य बनाने के रास्ते पर बढ़ने का नीतिगत निर्णय किया जो गत 40 वर्ष में किसी ने नहीं किया था।
      
खार ने कहा कि व्यापार सामान्य बनाने का कदम बहुत अच्छा विश्वास बहाली कदम रहा है।

 
 
 
टिप्पणियाँ