शुक्रवार, 24 अक्टूबर, 2014 | 22:24 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    भूपेंद्र सिंह हुड्डा की बढ़ सकती हैं मुश्किलें  कालेधन पर राम जेठमलानी ने बढ़ाई सरकार की मुश्किलें जमशेदपुर से लश्कर का आतंकवादी गिरफ्तार  कोई गैर गांधी भी बन सकता है कांग्रेस अध्यक्ष: चिदंबरम भाजपा के साथ सरकार के लिए उद्धव बहुत उत्सुक: अठावले रांची : एंथ्रेक्स ने ली सात लोगों की जान, 8 गंभीर हालत में भर्ती भारत-पाक तनाव के लिये भारत जिम्मेदार : बिलावल भुट्टो अमेरिकी विदेश विभाग में पहली बार मनी दीवाली एनआईए प्रमुख ने बर्दवान विस्फोट की जांच का जायजा लिया आईएस के आतंकवादी अब दुनिया में सबसे धनी : विशेषज्ञ
पाकिस्तान में 2013 के आम चुनावों में देरी संभव
लाहौर, एजेंसी First Published:23-12-12 07:10 PMLast Updated:23-12-12 07:53 PM

पाकिस्तान में 2013 में होने वाले आम चुनाव समय पर नहीं हो पायेंगे। खबर है कि चुनावों में कुछ महीनों यहां तक की सालों की देरी हो सकती है।

पंजाब पुलिस की विशेष इकाई ने यह बात कही है। कयास लगाये जा रहे हैं कि कुछ सालों के लिये कार्यवाहक शासन स्थापित किया जायेगा। पंजाब पुलिस की विशेष शाखा ने एक रिपोर्ट के हवाले से चुनावों में देरी की बात बतायी। इस रिपोर्ट को मुख्यमंत्री शाहबाज शरीफ को सौंप दिया गया है।

पाकिस्तान में अगले साल की शुरुआत में प्रांतीय और राष्ट्रीय सभाओं के लिये चुनाव होने हैं।
पुलिस की इस रिपोर्ट में बताया गया है कि आम चुनाव समय पर नहीं होंगे और कुछ सालों के लिये कार्यवाहक शासन स्थापित किया जायेगा।

इस रिपोर्ट के बाद पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के भाई और प्रांत के मुख्यमंत्री शाहबाज शरीफ ने कहा कि यदि चुनावों में देरी होती है तो गृहयुद्ध की नौबत आ सकती है। शरीफ की पार्टी पी एम एल- एन न्यायपालिका द्वारा लिये गये कुछ फैसलों से अपने खिलाफ माहौल को लेकर आशंकित है। 
अंदरूनी सूत्रों का कहना है कि पार्टी को डर है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले, बलूचिस्तान में सरकार की विफलता और कराची में मौजूदा कानून व्यवस्था लोकतांत्रिक ढांचे के विरुद्ध जा सकती है।

पी एम एल- एन के अध्यक्ष नवाज शरीफ ने कहा कि 2013 के चुनावों को टाला नहीं जाना चाहिये क्योंकि लोग अपने वोटों से देश में बदालाव लाना चाहते हैं।
 
 
 
टिप्पणियाँ