शनिवार, 04 जुलाई, 2015 | 05:14 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    फिल्म देखने से पहले पढ़ें 'गुड्डू रंगीला' का रिव्यू फिल्म रिव्यू: टर्मिनेटर जेनेसिस पूर्व रॉ प्रमुख के खुलासे के बाद सरकार पर हमलावर हुई कांग्रेस, PM से की माफी की मांग झारखंड: मेदिनीनगर के हुसैनाबाद में ओझा-गुणी की हत्या हजारीबाग के पदमा में दो गुटों में भिड़ंत, आधा दर्जन घायल गुमला में बाइक के साथ नदी में गिरा सरकारी कर्मी, मौत हेमा मालिनी के ड्राइवर को कुछ ही घंटों में मिली जमानत, बच्ची की मौत से हेमा दुखी झारखंड के चाईबासा में रिश्वत लेते दारोगा रंगे हाथ गिरफ्तार झारखंड: हजारीबाग में पिता ने अबोध बेटी को पटक कर मार डाला जमशेदपुर में स्कूल वाहन चालक हड़ताल पर, अभिभावक परेशान
भारतीय दंपत्ति के खिलाफ बच्चों के साथ दुर्व्यवहार का आरोप
ओस्लो-नयी दिल्ली, एजेंसी First Published:01-12-12 07:36 PMLast Updated:01-12-12 07:48 PM
Image Loading

नॉर्वे में बाल शोषण के कथित मामले के तहत गिरफ्तार भारतीय दंपति के मामले में नया मोड़ ले लिया है। अब अभियोजन पक्ष ने दंपत्ति पर उनके बच्चों के साथ निरंतर बुरा बर्ताव करने का आरोप लगाते हुए उन्हें कम से कम 15 महीने की कैद की सजा देने की मांग की है।

ओस्लो पुलिस विभाग की ओर से जारी बयान के अनुसार डर था कि कार्रवाई से बचने के लिए सॉफ्टवेयर पेशेवर चंद्रशेखर वल्लभानेणि और भारतीय दूतावास में कार्यरत उनकी पत्नी अनुपमा भारत वापस भाग जाएंगे।

पुलिस ने कहा कि इस मामले पर फैसला तीन दिसंबर को ओस्लो जिला अदालत में होगा। चंद्रशेखर के भतीजे वी सैलेन्द्र का कहना है कि दंपति के सात वर्षीय बेटे ने स्कूल बस में पैंट में पेशाब कर दिया था। इस बारे में उसके पिता को सूचित करने पर उन्होंने बच्चों को धमकाया कि अगर वह दोबारा ऐसा करेगा तो उसे भारत वापस भेज दिया जाएगा।

नई दिल्ली में आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक विदेश मंत्रालय इस मामले पर पिछले आठ माह से काम कर रहा है। दंपत्ति के बच्चों को अधिकारी पहले भी ले गए थे लेकिन कोशिशों बाद मई में उन्हें उनका बच्चा वापस मिला था। दंपत्ति के खिलाफ लगाए गए आरोप आपराधिक प्रवृति के हैं।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड