शनिवार, 31 जनवरी, 2015 | 12:34 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
ऑटोवालों की समस्या दूर करेंगे, नए स्टैंड बनाएंगे, हर साल किराए की समीक्षा करेंगे : केजरीवालव्यापारियों को मान-सम्मान मिलेगा, व्यापार करने की आजादी मिलेगी : केजरीवाल900 हेल्थ सेंटर खोलेंगे : केजरीवालदिल्ली को कारोबार का हब बनाएंगे : केजरीवालदिल्ली में वैट का रेट सबसे कम करेंगे, जिससे महंगाई कम होगी और टैक्स चोरी भी नहीं होगी : केजरीवालदिल्ली के गांवों को बसों और मेट्रो से जोड़ेंगे: केजरीवालसरकारी अस्पतालों का प्रशासन सुधारेंगे, डॉक्टरों को सम्मान और सुरक्षा देंगे: केजरीवालपांच साल में यमुना को खूबसूरत बनाएंगे, उद्योगों का कचरा डालना बंद करवाएंगे: केजरीवालपानी के लिए दूसरे राज्यों के आगे हाथ फैलाना बंद करेंगे: केजरीवाल5 साल में हर घर में पानी की पाइप लाइन पहुचाएंगे : केजरीवाल24 घंटे बिजली देंगे, आधे दाम पर देंगे : केजरीवालधीरे-धीरे दिल्ली को सोलर एनर्जी की ओर लेकर जाएंगे : केजरीवाल
हिंसा के बाद मोरसी ने किया देश को संबोधित
काहिरा, एजेंसी First Published:07-12-12 09:57 AM
Image Loading

मिस्र के राष्ट्रपति मोहम्मद मोरसी के समर्थकों और उनका विरोध कर रहे लोगों के बीच हुई हिंसा के 30 घंटे बाद मोरसी ने टेलीविजन पर प्रसारित सीधे भाषण में देश को संबोधित किया।
  
मोरसी ने विवादास्पद नए संविधान पर 15 दिसंबर को जनमत संग्रह कराए जाने का संकल्प दोहराया और कहा कि इसके बाद किसी तरह की बाधा खड़ी नहीं की जानी चाहिए और हर किसी को इसका पालन करना चाहिए।
  
उन्होंने कहा कि यदि जनमत संग्रह में लोग नए संविधान को खारिज करते हैं तो वह विवादास्पद संवैधानिक घोषणा को रद्द कर देंगे और नयी संविधान सभा गठित करेंगे। मोरसी ने हाल के घटनाक्रम के लिए विपक्षियों और पूर्व शासन के शेष लोगों को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में अभियोजन अधिक ब्यौरे का खुलासा करेगा।
  
मोरसी ने अपने भाषण में कहा कि 80 से अधिक लोग गिरफ्तार किए गए हैं। राष्ट्रपति ने विपक्ष के साथ वार्ता की पेशकश की और उनके प्रतिनिधियों से शनिवार को उनके कार्यालयों में मिलने की बात कही।
  
उनके भाषण के खत्म होते ही सोशल मीडिया पर आहवान किया गया कि वर्तमान स्थिति के विरोध में कल एक बार फिर सड़कों पर उतरा जाए। मोरसी के इस्लामी समर्थकों और धर्मनिरपेक्ष विरोधियों के बीच कल हुई हिंसा में सात लोग मारे गए थे और 700 से अधिक घायल हुए थे।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड