मंगलवार, 26 मई, 2015 | 14:53 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    इस रेस्टोरेंट में आने वालों को बनना पड़ता है कैदी प्रतापगढ़ में रोडवेज के कैशियर की हत्या कर साढ़े सात लाख की लूट  सलमान खान को दुबई जाने के लिए कोर्ट से मिली अनुमति वसीम रिजवी शिया वक्फ बोर्ड के फिर चेयरमैन साहित्यिक चोरी के आरोप में 'पीके' के निर्माताओं को नोटिस 9 अधिकारियों के तबादले के बाद एलजी से मिले केजरीवाल  कांग्रेस के दस साल पर भारी भाजपा का एक साल: स्मृति पूरी दुनिया कर रही है हरमन की तारीफ, कहानी जान कर आप भी करेंगे इशारों में बोले अमित शाह: 370 सीटें दो, तभी बन पाएगा राम मंदिर 2जी: बैजल ने कहा, मनमोहन भी घोटाले के लिए जिम्मेदार
महिला हिंसा से लड़ने में अमेरिका ने की मदद की पेशकश
वाशिंगटन, एजेंसी First Published:04-01-13 06:23 PM

दिल्ली में सामूहिक दुष्कर्म की घटना के बाद अमेरिका ने महिलाओं के खिलाफ होने वाली हिंसा से लड़ने के लिए भारत के सार्वजनिक एवं निजी संगठनों को मजबूत बनाने के लिए मदद की पेशकश की है।

अमेरिकी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता विक्टोरिया नूलैंड ने गुरुवार को संवाददाताओं से कहा कि अमेरिका ने महिलाओं के खिलाफ हिंसा से लड़ने के लिए दुनियाभर में कड़ी मेहनत की है। जहां भी इस तरह की समस्या होगी, अमेरिका इसे अपनी विदेश नीति का हिस्सा बनाए रखेगा।

नूलैंड ने कहा, ''हमारे पास ऐसे कई कार्यक्रम हैं, जिनसे हिंसा पीडिम्त महिलाओं को मदद मिलती है। भारत में गैर-सरकारी संगठनों (एनजीओ) के समर्थन में सार्वजनिक शिक्षा ऐसा ही एक कार्यक्रम है।''

उन्होंने कहा, ''इस मामले की जांच से यदि यह सामने आता है कि भारत सरकार इन कार्यक्रमों को लेकर किसी तरह का परिवर्तन करना चाहती है या नए निर्देश जारी करना चाहती है तो हम इस बारे में उनसे बातचीत करना चाहेंगे।''

यह पूछे जाने पर कि क्या अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन को भारत में हुए इस वारदात की जानकारी है, नूलैंड ने कहा, ''मुझे भरोसा है कि वह इस बारे में जानती हैं। इस मुद्दे को मीडिया में खूब जगह मिली है और यह एक बेहद संवेदनशील विषय है, जिसके बारे में वह सोचती रहती हैं।''

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड