रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 02:36 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
व्यापार विवाद सुलझाने के लिए भारत-चीन में बातचीत कल
बीजिंग, एजेंसी First Published:16-04-12 08:01 PMLast Updated:16-04-12 08:02 PM
Image Loading

भारत व चीन के अधिकारी दोनों देशों के बीच डंपिंगरोधी शुल्क तथा अन्य व्यापार विवादों को सुलझाने पर मंगलवार को होने वाली बैठक में विचार करेंगे।

वाणिज्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव जेएस डाडू की अगुवाई में भारतीय प्रतिनिधि मंडल यहां पहुंच गया है। यह प्रतिनिधि मंडल चीन के अधिकारियों के साथ व्यापार से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करेगा। पिछले कुछ वर्षों में दोनों देशों के बीच वार्ता का यह तीसरा दौर होगा। भारतीय अधिकारियों ने बताया कि ये वार्ताएं डंपिंगरोधी कदमों के साथ साथ विभिन्न उत्पादों पर शुल्कों पर केंद्रित रहेगी।

भारतीय वाणिज्य मंत्रालय के अधीन आने वाले डंपिंगरोधी तथा सम्बद्ध शुल्क महानिदेशालय (डीजीएडी) ने कहा था कि भारत ने चीन के खिलाफ दिसंबर तक 149 डंपिंगरोधी मामले शुरू किए थे। किसी भी देश के खिलाफ यह संख्या सबसे अधिक और इस तरह के कुल मामलों का 50 प्रतिशत से अधिक है।

वाणिज्य राज्यमंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिसंबर में राज्यसभा में एक लिखित जवाब में बताया था कि चीन के खिलाफ 77 डंपिंगरोधी कदम उठाए गए हैं।
 
 
 
टिप्पणियाँ