शुक्रवार, 31 अक्टूबर, 2014 | 18:17 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
विद्या प्रकाश ठाकुर ने भी राज्यमंत्री पद की शपथ लीदिलीप कांबले ने ली राज्यमंत्री पद की शपथविष्णु सावरा ने ली मंत्री पद की शपथपंकजा गोपीनाथ मुंडे ने ली मंत्री पद की शपथचंद्रकांत पाटिल ने ली मंत्री पद की शपथप्रकाश मंसूभाई मेहता ने ली मंत्री पद की शपथविनोद तावड़े ने मंत्री पद की शपथ लीसुधीर मुनघंटीवार ने मंत्री पद की शपथ लीएकनाथ खड़से ने मंत्री पद की शपथ लीदेवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली
मुर्सी ने आखिरकार लोगों को संबोधित किया, घोषणा के बारे में बोले
काहिरा, एजेंसी First Published:30-11-12 11:41 AM
Image Loading

मिस्र में एक हफ्ते की राजनीतिक अशांति और इस्लामवादियों एवं अन्य समूहों के बीच संभावित टकराव की आशंका के बाद राष्ट्रपति मोहम्मद मुर्सी ने अंतत: लोगों को संबोधित किया और उस संवैधानिक घोषणा के बारे में बोले, जिससे तनाव उत्पन्न हो गया था।

मुर्सी ने बीती रात सरकारी टेलीविजन पर प्रसारित साक्षात्कार में कहा कि घोषणा वर्तमान अवधि की जरूरतों को पूरा करती है और जनमत संग्रह से संविधान के मंजूर होते ही खत्म हो जाएगी। मुर्सी ने घोषित आदेश के जरिए नया संविधान लागू होने और नई संसद चुने जाने तक अपने सभी फैसलों को न्यायिक समीक्षा के दायरे से बाहर कर दिया था।

राष्ट्रपति ने साक्षात्कार में कहा कि उन्होंने राष्ट्र में व्याप्त खतरे को समझा और स्थिति से निपटने के लिए काफी सावधानी से शल्य चिकित्सा की। सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने वालों का कहना है कि मुर्सी लोगों को इस बात के लिए बाध्य कर रहे हैं कि वे या तो इस्लामवादियों द्वारा तैयार किए गए संविधान को स्वीकार करें या फिर ऐसे राष्ट्रपति के साथ रहें, जो इस घोषणा के चलते शक्तिशाली तानाशाह होगा।

मुस्लिम ब्रदरहुड के मुहम्मद बाडी़ ने आरोप लगाया कि पूर्व शासन के बचे हुए तत्व लोकतंत्र की स्थापना में विलंब करने के लिए संकट पैदा कर रहे हैं और देश के नए संविधान के पूर्ण होने की प्रक्रिया में बाधा डाल रहे हैं। उन्होंने कहा कि इसकी शुरुआत ससंद को भंग करने से हुई, जो स्वतंत्र चुनाव से अस्तित्व में आई थी और जिसमें तीन करोड़ लोग शामिल हुए। अब वे संविधान सभा को भंग करना चाहते हैं।

 
 
 
टिप्पणियाँ