शनिवार, 25 अक्टूबर, 2014 | 22:59 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
ओबामा ने गोलीबारी के पीड़ित परिवारों को दी सांत्वना
न्यूयार्क, एजेंसी First Published:17-12-12 11:21 AMLast Updated:17-12-12 12:15 PM
Image Loading

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कनेक्टीकट के एक स्कूल में हुई गोलीबारी के पीड़ित परिवारों को ढांढस बंधाते हुए कहा है कि देश अपने बच्चों को सुरक्षित रखने के लिए पर्याप्त काम नहीं कर रहा है और उन्होंने इस तरह की त्रासदियों को रोकने के लिए अपने पद की ताकत का इस्तेमाल करने का वादा किया।
   
ओबामा ने कल कनेक्टीकट के न्यूटाउन का दौरा किया जहां बीते सप्ताह एड़ा लांजा नामक युवक ने सैंडी हुक एलीमेंटरी स्कूल में गोलीबारी करके 20 बच्चों सहित 26 लोगों की हत्या कर दी थी।
    
पुलिस का कहना है कि 20 वर्षीय लांजा ने एक बड़ी राइफल का इस्तेमाल किया और छह-सात साल के बच्चों पर कई-कई गोलियां बरसा दीं। इस घटना ने पूरी दुनिया को सकते में डाल दिया और अब अमेरिकी लोग इससे जुड़े कई सवालों के जवाब तलाशने की कोशिश कर रहे हैं।
    
ओबामा ने न्यूटाउन हाई स्कूल में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में कहा कि यह कस्बा दुख की इस घड़ी में अकेला नहीं है, सभी लोग उसके साथ हैं।
    
ओबामा ने कहा कि देश बच्चों को सुरक्षित रखने में नाकाम हो रहा है। इसे रोकना हमारा पहला काम है। क्या हम अपने प्रतिबद्धताओं को पूरा कर रहे हैं क्या हम ईमानदारी से कह सकते हैं कि हम अपने बच्चों को सुरक्षित रखने के लिए पर्याप्त काम कर रहे हैं।
    
अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि अगर हम अपने प्रति ईमानदार हैं तो उत्तर ना है। हम प्रयाप्त कदम नहीं उठा रहे हैं और हमें बदलाव करना होगा। पीड़ितों की याद में आयोजित इस श्रद्धांजलि सभा में विभिन्न धर्मों के नेता शामिल हुए और पीड़ितों के लिए प्रार्थना भी की गई।
    
इस मौके पर एक मुस्लिम लड़के ने पवित्र कुरान की आयतें भी पढ़ीं। ओबामा स्कूल के सभागार की पहली पंक्ति में बैठे हुए थे। ओबामा ने कहा कि कोई एक कानून और एकसाथ कई कानून भी दुनिया से बुराई को खत्म नहीं कर सकते अथवा हर संवेदनहीन हिंसक कार्रवाई को रोक नहीं सकते हैं। हम नियमित तौर पर इस घटनाओं के होने को स्वीकार नहीं कर सकते।
     
इस मौके पर अमेरिकी राष्ट्रपति ओबामा ने गोलीबारी में मारे गए बच्चों के नाम पढ़े। इसके अलावा उन्होनें बच्चों को बचाने के लिए अपनी जान गंवाने वाले स्कूल के छह कर्मचारियों को भी नाम लेकर याद किया।
    
उधर, इस हमले को लेकर कई और तथ्य सामने आए हैं। कनेक्टीकट पुलिस का कहना है कि लांजा ने अपनी मां नैंसी लांजा के सिर में कई गोलियां मारीं और फिर स्कूल में बच्चों पर गोलीबारी की। उसके पास सेमीआटोमैटिक पिस्टल, एक राइफल और बड़ी मात्रा में गोला-बारुद था।
    
कनेक्टीकट पुलिस के प्रवक्ता पॉल वैंस ने कहा कि ज्यादातर गोलीबारी 223-बुशमास्टर सेमीआटोमैटिक राइफल से की गई। लांजा ने कई गोलियां बरसाईं और जब उसने खुद को गोली मारी तो उसके पास कई गोलियां बची थीं।
 
 
 
टिप्पणियाँ