बुधवार, 01 जुलाई, 2015 | 18:18 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
हमें समय के इस बदलाव का समझना होगा नहीं तो हम पीछे रह जाएंगे: पीएम मोदीभारत के भविष्य को बदलने का खाका खींचा गया: पीएम मोदीडिजीटल इंडिया से देश का सपना सच होगा: पीएम मोदीआज बच्चा भी चश्मे की जगह मोबाइल छीनता है, बच्चे भी डिजीटल ताकत को समझ रहे हैं: पीएम मोदीपीएम मोदी ने कहा, आज साढे चार लाख करोड रुपये का निवेश और करीब 18 लाख नौकरियों का ऐलान हुआलखीमपुर में बाढ़ के पानी में डूबने से छह बच्‍चों की मौत, बुखारीटोला में खेत में भरे पानी में डूबे चार बच्‍च्‍ो, नरेन्‍द्र नगर में बाढ़ से उफनाए नाले में दो बच्‍चे डूबे250 हजार करोड निवेश करेंगे, पांच लाख से ज्यादा लोगों को मिलेगी नौकरी: मुकेश अंबानीमुकेश अंबानी ने कहा, पीएम की सोच हमारी प्रेरणा, लोगों की जिंदगी बदलेगीडिजीटल इंडिया वीक की शुरूआत, कार्यक्रम में मौजूद हैं कई बडे उद्योगपति
ओबामा अब आधिकारिक रूप से विजयी घोषित
वाशिंगटन, एजेंसी First Published:05-01-13 12:56 PMLast Updated:05-01-13 01:07 PM
Image Loading

अमेरिका में छह नवंबर के राष्ट्रपति चुनाव के पूरे दो महीने बाद अब राष्ट्रपति बराक ओबामा को आधिकारिक रूप से पुनर्निर्वाचित घोषित कर दिया गया है। उन्होंने रिपब्लिकन उम्मीदवार मिट रोमनी को 206 के मुकाबले 332 मतों से पराजित किया था।

सीनेट के अध्यक्ष की हैसियत से उपराष्ट्रपति जो बिडेन ने शुक्रवार को कांग्रेस में एक आधिकारिक औपचारिकता के बाद इसकी घोषणा की। शुक्रवार को प्रतिनिधि सभा और सीनेट का 23 मिनट का एक संयुक्त सत्र आयोजित किया गया और निर्वाचक मंडल के वोट प्राप्त करने और उसे गिनने की आधिकारिक कोरम पूरा किया गया। परिणाम अपेक्षानुरूप थे।

बिडेन ने कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति के पद के लिए इलिनॉइस राज्य के बराक ओबामा को 332 वोट प्राप्त हुए हैं। मेसाचुसेट्स राज्य के मिट रोमनी को 206 वोट प्राप्त हुए हैं।

बिडेन ने कहा कि अमेरिका के उपराष्ट्रपति के लिए डेलवेयर राज्य के जोसेफ बिडेन को 332 वोट प्राप्त हुए हैं। विस्कॉन्सिन राज्य के पॉल रायन को 206 वोट हासिल हुए।

बिडेन ने आगे कहा कि सीनेट के अध्यक्ष द्वारा प्राप्त मतों की यह घोषणा, अमेरिका के राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति पद पर निर्वाचित व्यक्तियों के लिए एक पर्याप्त घोषणा मानी जाएगी। प्रत्येक का कार्यकाल 20 जनवरी, 2013 से शुरू होगा।

ज्ञात हो कि राष्ट्रपति चुनाव के तहत मतों की गिनती आमतौर पर छह जनवरी को होती है, लेकिन इस बार छह जनवरी को रविवार पड़ रहा था। लिहाजा कांग्रेस ने गुरुवार को एक प्रावधान किया और उसके तहत मतों की गिनती शुक्रवार को ही सम्पन्न की गई।

 
 
 
अन्य खबरें
 
 
 
 
 
 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड