शनिवार, 25 अक्टूबर, 2014 | 18:56 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
रक्षा खरीद परिषद ने करीब 80,000 करोड़ रुपये की परियोजनाओं को मंजूरी दी।नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर हादसा, ट्रेन के नीचे आने से एक व्यक्ति की मौतकेंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह महाराष्ट्र में सरकार के गठन के संदर्भ में सोमवार को राज्य का दौरा कर सकते हैं: सूत्र
अफगानिस्तान में आत्मघाती हमला, 14 की मौत
काबुल, एजेंसी First Published:02-12-12 05:19 PM

अफगानिस्तान में तालिबान के आत्मघाती हमलावारों ने उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) के ठिकाने पर हमला कर दिया, जिसमें तालिबान के नौ सदस्यों सहित 14 लोगों की मौत हो गई। तालिबान के प्रवक्ता जबिउल्लाह मुजाहिद ने हमले की जिम्मेदारी ली है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, पूर्वी प्रांत नांगरहर की राजधानी जलालाबाद में भी दो अन्य व्यक्तियों की मौत हो गई।

मरने वालों की संख्या को लेकर अलग-अलग रिपोर्ट आ रही है। सीएनएन के अनुसार, जलालाबाद हवाई क्षेत्र के नजदीक फॉरवार्ड ऑपरेटिंग बेस फेंटी के तीन अलग-अलग केंद्रों पर आतंकवादियों ने हमले किए, जिसमें अफगानिस्तान के तीन जवान मारे गए।

प्रांतीय पुलिस के प्रवक्ता हवरत हुसैन मशीरइकवाल ने सीएनएन से कहा कि विस्फोटों में तीन आत्मघाती हमलावर तथा छह बंदूकधारी मारे गए।

तालिबान के आत्मघाती हमलावरों ने सुबह छह बजे विस्फोटकों से भरे वाहन के साथ नाटो के ठिकाने पर विभिन्न प्रवेश द्वारों से हमला किया, जिसके बाद आतंकवादियों और सुरक्षा बलों की ओर से अंधाधुंध गोलीबारी हुई।

पुलिस ने सीएनएन को बताया कि हमले में अफगानिस्तान की सेना के 14 जवान और चार नागरिक घायल हो गए।

नाटो के हेलीकॉप्टर इलाके में उड़ान भरते और हमलावरों पर गोलाबारी करते देखे गए। विस्फोटों की वजह से क्षेत्र में काले धुओं का घेरा देखा गया।

तालिबान के प्रवक्ता जबिउल्लाह मुजाहिद ने हमले की जिम्मेदारी लेते हुए कहा कि दो आत्मघाती कार बम तथा एक आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटकों से भरा बेल्ट लगाकर हमला किया। उसने दावा किया कि हमले में 20 लोग मारे गए।

अफगानिस्तान के अधिकारियों ने बीबीसी को बताया कि हमले में आठ आत्मघाती हमलावर शामिल थे और वे सभी मारे गए।

नाटो के प्रवक्ता ने हालांकि हमले को विफल करार देते हुए कहा कि तालिबान सदस्य ठिकाने पर पहुंचने में नाकाम रहे।

'बीबीसी' के अनुसार विस्फोट इतना तेज था कि एक किलोमीटर दूर के घरों के शीशे भी टूट गए।
 
 
 
टिप्पणियाँ