शनिवार, 31 जनवरी, 2015 | 06:14 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
फतुहा में बिजली की तार की चपेट में ट्रॉली आई, दो की मौतअमिता को पीजीआई लखनऊ भेजा गया था महिला के खून का नमूना, जांच में स्वाइन फ्लू की पुष्टिबरेली में स्वाइन फ्लू से पहली मौत की पुष्टि, राममूर्ति मेडिकल कालेज में हुई थी 24 जनवरी को सीबीगंज की अमिता उपाध्याय की मौतपाकिस्तान के शिकारपुर में ब्लास्ट, 20 लोगों की मौतयूपी: लखीमपुर खीरी के मैगलंगज में युवक की हत्या, ट्रैक्टर ट्रॉली पर फेंक दिया शव, गला दबाकर हत्या का आरोपबरेली : इंडियन वैटेनरी रिसर्च इंस्टीट्यूट (आईवीआरआई) और सेंट्रल एवियन रिसर्च इंस्टीट्यूट (सीएआरआई) में रेबीज का कहर, आवारा कुत्तों के काटने से कई वैज्ञानिक रेबीज की चपेट में, मारे गए कुत्तों के पोस्टमार्टम में रेबीज की पुष्टि
अमेरिका में गोलीबारी पर मून ने जताया शोक
संयुक्त राष्ट्र, एजेंसी First Published:15-12-12 02:00 PMLast Updated:15-12-12 02:08 PM
Image Loading

संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की-मून ने अमेरिका में एक प्राथमिक स्कूल में शुक्रवार को हुई गोलीबारी के प्रति गहरा शोक जताया है। इस घटना में 20 बच्चों सहित 28 लोग मारे गए।

संयुक्त राष्ट्र प्रवक्ता मार्टिन नेसिर्की ने बताया कि मून ने कनेक्टिकट के गवर्नर डैनेल मैलॉय को लिखे एक पत्र में सैंडी हुक एलिमेंट्री स्कूल की घटना को स्तब्ध कर देने वाली घटना बताया। सिन्हुआ के मुताबिक प्रवक्ता ने कहा कि महासचिव ने बच्चों को निशाना बनाने की इस घटना को जघन्य और कल्पना से परे बताया है।

उन्होंने पीड़ितों के परिवारों और इस भयावह अपराध से आहत लोगों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त कीं और उनके लिए प्रार्थनाएं कीं। पुलिस ने शुक्रवार को कनेक्टिकट में बताया कि 18 बच्चों की स्कूल में घटनास्थल पर ही मौत हो गई थी। बाद में दो और बच्चों की अस्पताल में मौत हो गई जबकि आठ अन्य भी मारे गए।

रिपोर्ट्स के मुताबिक बंदूकधारी ने स्कूल में काम करने वाली अपनी मां को भी गोली मारी। पुलिस ने बताया कि बंदूकधारी व उसका एक साथी भी मारे गए। अमेरिका के इतिहास में गोलीबारी की यह दूसरी सबसे भयावह घटना है। इससे पहले अप्रैल, 2007 में वर्जीनिया टैक मैसाक्री में हुई गोलीबारी में 33 लोग मारे गए थे।


यूरोपीय संघ ने भी जताया शोक
यूरोपीय संघ के नेताओं ने शुक्रवार को अमेरिका के कनेक्टिकट के स्कूल में हुई गोलीबारी की घटना पर गहरा शोक व्यक्त किया है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक यूरोपीय संघ के अध्यक्ष जोस मैनुएल बरोसो ने कहा कि गोलीबारी में लोगों के मारे जाने की खबर सुनकर मुझे बेहद दुख और आघात पहुंचा है। उम्मीदों से भरे बच्चों को मौत की नींद की सुला दिया गया है।

उन्होंने कहा कि यूरोपीय संघ और अपने तरफ से इस त्रासदापूर्ण घटना पर मृतकों के परिजनों के प्रति मैं गहरी सहानुभूति व्यक्त करता हूं। यूरोपीय संघ की विदेशी मामलों की प्रमुख कैथरीन एश्टन ने कहा कि कनेक्टिकट के एक स्कूल में हुई इस त्रासदापूर्ण गोलीबारी पर मैं शोक व्यक्त करती हूं। एश्टन ने कहा कि मैं मृतकों के परिवारवालों और अमेरिकीयों के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त करती हूं।

 

 

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड