मंगलवार, 28 जुलाई, 2015 | 11:19 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
गृह मंत्री की अध्यक्षता में पंजाब के आतंकी हमलों को लेकर बैठक होगीDCW चेयरपर्सन के बतौर स्वाति मालीवाल ने लिया चार्जइंडोनेशिया के पूर्वी प्रांत पापुआ में आज 7.0 तीव्रता वाले भूकंप के जबरदस्त झटके महसूस किये गएसात दिवसीय राजकीय शोक की घोषणा लेकिन कोई छुट्टी नहीं12 बजे तक दिल्ली पहुंचेगा कलाम का पार्थिव शरीर, कल ले जाया जाएगा रामेश्वरम
गोलीबारी की घटना से टूटे हमारे दिल: ओबामा
वॉशिंगटन, एजेंसी First Published:15-12-2012 10:52:59 AMLast Updated:15-12-2012 02:09:28 PM
Image Loading

अमेरिका में एक स्कूल में हुई गोलीबारी में कम से कम 18 बच्चों के मारे जाने के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा काफी दुखी हैं। व्हाइट हाउस प्रेस के सामने उनका गला कई बार रुंधा। उन्होंने कहा कि आज हमारे दिल टूट गए हैं।

व्हाइट हाउस प्रेस के समक्ष ओबामा ने कहा कि इस हादसे में मारे गए छोटे बच्चों के माता-पिता, दादा-दादी, बहनों-भाइयों और वयस्कों के परिवारों के लिए आज हमारे दिल में दर्द है। उन्होंने कहा कि कोई भी शब्द इन माता-पिता का दर्द कम नहीं कर सकता।

ओबामा को इस दर्दनाक हादसे की खबर ओवल ऑफिस में उनके होमलैंड सुरक्षा सलाहाकार जॉन ब्रेनान ने सुबह करीब साढ़े दस बजे दी थी। उन्होंने एफबीआई के निदेशक और कनेक्टीकट के गवर्नर से बात भी की थी। गोलीबारी की यह घटना कनेक्टीकट में ही हुई।

प्रेस को संबोधित करते हुए ओबामा ने कई बार बीच में रुक कर अपने आंसू पोंछे। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि एक देश के तौर पर हमें कई बार ऐसी घटनाओं का सामना करना पड़ा है। फिर चाहे वह न्यूटाउन में कोई प्रारंभिक शिक्षा का स्कूल हो या ओरेगॉन का शॉपिंग मॉल, विस्कोंसिन का गुरुद्वारा हो या ऑरोरा का कोई सिनेमा थियेटर या फिर शिकागो की कोई सड़क। ये बच्चे हमारे अपने बच्चे हैं। ऐसी त्रासदियों को रोकने के लिए हम राजनीति से परे एक साथ मिलकर कड़े कदम उठाने वाले हैं।

दो बेटियों के पिता ओबामा ने कहा कि आज शाम मिशेल और मैं वही करेंगे जो आज अमेरिका के सभी माता-पिता करेंगे। हम सब आज अपने-अपने बच्चों को गले लगाएंगे और उन्हें बताएंगे कि हम उन्हें बहुत प्यार करते हैं। हम एक-दूसरे को यह याद दिलाएंगे कि हम एक-दूसरे से कितना प्यार करते हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने माना कि अपने बच्चों या किसी अन्य प्रियजन को खोने की भरपाई नहीं की जा सकती। साथ ही उन्होंने कहा कि पीड़ितों के परिवारों की मदद के लिए सरकार हरसंभव प्रयास करेगी।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड