शुक्रवार, 03 जुलाई, 2015 | 16:30 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    पूर्व रॉ प्रमुख के खुलासे के बाद सरकार पर हमलावर हुई कांग्रेस, PM से की माफी की मांग झारखंड: मेदिनीनगर के हुसैनाबाद में ओझा-गुणी की हत्या हजारीबाग के पदमा में दो गुटों में भिड़ंत, आधा दर्जन घायल गुमला में बाइक के साथ नदी में गिरा सरकारी कर्मी, मौत सर्जरी के बाद हेमामालिनी की हालत ठीक, वसुंधरा राजे ने की मुलाकात झारखंड के चाईबासा में रिश्वत लेते दारोगा रंगे हाथ गिरफ्तार झारखंड: हजारीबाग में पिता ने अबोध बेटी को पटक कर मार डाला जमशेदपुर में स्कूल वाहन चालक हड़ताल पर, अभिभावक परेशान झारखंड: सीएम ने राज्य के सबसे लंबे पुल की आधारशिला रखी यूपी के रायबरेली में सड़क हादसा, 9 लोगों की मौत
सत्यम के पूर्व निदेशकों के खिलाफ दावे खारिज
न्यूयॉर्क, एजेंसी First Published:03-01-13 02:15 PM
Image Loading

अमेरिका की एक अदालत ने सत्यम कंप्यूटर्स स्वतंत्र निदेशकों के खिलाफ किए गए दीवानी दावों को यह कहते हुए खारिज कर दिया कि वे (निदेशक) खुद भी इस भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी में हुए एक अरब डॉलर के लेखा घोटाले के शिकार हैं।

घोटालों के प्रकाश में आने के बाद सत्यम अब पुराने प्रवर्तकों के हाथ से निकल चुकी है इसका अधिग्रहण महिंद्रा एण्ड महिंद्रा समूह की एक कंपनी ने कर लिया है। इस याचिका की सुनवाई करते हुए न्यायाधीश ने कहा कि सत्यम कंप्यूटर के पूर्व स्वतंत्र निदेशकों और लेख समिति के सदस्यों के खिलाफ आरोप अपर्याप्त हैं।

अदालत ने कहा कि याचिका में ज्यादातर आरोप से पता चलता है पूर्व निदेशक मंडल के कुछ सदस्य खुद ही इस घोटाले के शिकार रहे। भारत का यह सबसे बड़ा लेखा घोटाला जनवरी 2009 में सामने आया, जबकि सत्यम कंप्यूटर के संस्थापक और तत्कानी अध्यक्ष बी रामलिंग राजू ने स्वीकार किया कि उन्होंने कंपनी में एक अरब डॉलर से ज्यादा की धोखाधड़ी की और कई अन्य गड़बड़ियां कीं।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड