शुक्रवार, 29 मई, 2015 | 07:38 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    गुर्जरों को मिलेगा 5 फीसदी आरक्षण, सरकार लाएगी विधेयक राहुल पर राम का पलटवार, कहा चार पीढ़ियां आरएसएस को नहीं रोक पाई मोदी ने मनमोहन से लिया था एक घंटे इकॉनोमी का ज्ञानः राहुल लोकलुभावन रास्ते की बजाय अधिक कठिन मार्ग चुना :मोदी CBSE 10th रिजल्ट: 94,447 छात्रों को मिला 10 सीजीपीए सोनिया की मौजूदगी में हुई बैठक, पास हुआ मोदी के खिलाफ निंदा प्रस्ताव जेट एयरवेज की टिकटों पर 25 प्रतिशत छूट की पेशकश रायबरेली पहुंची सोनिया गांधी व्यापम घोटाला: अब तक जांच से जुड़े 40 लोगों की मौत त्रिपुरा सरकार ने राज्य में 18 सालों से लगा अफस्पा हटाया
काबुल बैंक धोखाधड़ी में दो भारतीय शामिल
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:29-11-12 04:25 PM
Image Loading

अधिकारियों की धोखाधड़ी तथा गबन के कारण अफगानिस्तान के काबुल बैंक के डूबने की घटना में कम से कम दो भारतीय नागरिकों के शामिल होने का अंदेशा है।

इस धोखाधड़ी में अफगानिस्तान सरकार को करीब 93.5 करोड़ डॉलर का चूना लगा है। एक स्वतंत्र जांच रिपोर्ट में यह बात कही गयी है।

काबुल बैंक के संकट की सार्वजनिक जांच रिपोर्ट (रिपोर्ट ऑफ द पब्लिक इन्क्वायरी इनटू द काबुल बैंक क्राइसिस) शीर्षक 87 पृष्ठ की इस रिपोर्ट को स्वतंत्र संयुक्त भ्रष्टाचार निरोधक निगरानी तथा मूल्यांकन समिति ने तैयार किया है।

रिपोर्ट के मुताबिक बैंक के मुख्य निरीक्षकों, निगरानीकर्ताओं तथा प्रबंधकों की अगुवाई में कर्ज में धोखाधड़ी तथा गबन के कारनामे को अंजाम दिया गया। इससे बैंक को 93.5 करोड़ डॉलर का नुकसान हो जो मुख्यत: ग्राहकों की जमा राशि थी।

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि शेयरधारकों, संबंधित व्यक्तियों तथा कंपनियों के साथ-साथ बदनाम राजनीतिज्ञों को इससे लाभ पहुंचा। वर्ष 2010 सितंबर में काबुल बैंक संकट में आया और उसके बाद उसे अफगानिस्तान के केंद्रीय बैंक ने अपने नियंत्रण में ले लिया।

इसके बाद 5 सितंबर 2010 को पूर्व गवर्नर ने गह मंत्रालय को पत्र लिखकर काबुल बैंक के आंतरिक ऑडिट प्रबंधक तथा रिण प्रबंधक की यात्रा पर प्रतिबंध लगाने की मांग की। ये दोनों भारतीय नागरिक हैं।

बहरहाल, कार्यकारियों और उनकी मौजूदा स्थिति के बारे में रिपोर्ट में कोई खास  ब्यौरा नहीं दिया गया है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
Image Loadingमूडी, पोटिंग, फ्लेमिंग या विटोरी हो सकते हैं टीम इंडिया के नए कोच
भारतीय टीम के पूर्व कोच डंकन फ्लेचर का कार्यकाल खत्म हो चुका है और बीसीसीआई अब एक नए कोच की तलाश में जुटी हुई है। टीम इंडिया का कोच बनना एक बड़ी चुनौती होती है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड