रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 14:59 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    भारत का रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल पर रोक का आह्वान महाराष्ट्र में नई सरकार के शपथ ग्रहण में शामिल होंगे मोदी एयर इंडिंया के कई पायलट खत्म लाइसेंस पर उड़ा रहे हैं विमान इराक में आईएस के ठिकानों पर अमेरिका के 23 हवाई हमले राजनाथ ने युवाओं से शांति और सौहार्द का संदेश फैलाने को कहा  शीतकालीन सत्र से पहले नए योजना निकाय का गठन कर सकती है सरकार  आज मोदी की चाय पार्टी में शामिल हो सकते हैं शिवसेना सांसद शिक्षिका ने की थी गोलीबारी रोकने की कोशिश नांदेड-मनमाड पैसेजर ट्रेन के डिब्बे में आग,यात्री सुरक्षित दिल्ली के त्रिलोकपुरी में हिंसा के बाद बाजार बंद, लगाया गया कर्फ्यू
TTP ने किया कश्मीर में संघर्ष का आहवान
वॉशिंगटन, एजेंसी First Published:08-01-13 12:11 PM
Image Loading

तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) के एक शीर्ष नेता वली-उर-रहमान ने एक वीडियो में लड़ाकों को कश्मीर भेजने और भारत में शरीयत कानून लागू करने के लिए संषर्घ का आहवान किया है।
   
वली-उर-रहमान पर दिसंबर 2009 में अफगानिस्तान में सीआईए के सात अधिकारियों की हत्या में संलिप्तता का आरोप है। उसके खिलाफ अमेरिका ने 50 लाख डॉलर का इनाम घोषित किया है।
   
समझा जाता है कि इस वीडियो में वली-उर-रहमान के साथ टीटीपी का प्रमुख हकीमुल्ला महसूद भी नजर आ रहा है और दोनों उग्रवादी नेताओं ने पहली बार अफगानिस्तान-पाकिस्तान की सीमा से आगे कश्मीर, भारत और अमेरिका तक अपनी पकड़ मजबूत करने की महत्वाकांक्षा जाहिर की है।
   
वॉशिंगटन के विचार समूह मिडल ईस्ट मीडिया रिसर्च इन्स्टीट्यूट (एमईएमआरआई) के जिहाद एंड टेरॅरिजम थ्रेट मॉनिटर (जेटीटीएम) ने वीडियो का अनुवाद मुहैया कराया है। इस अनुवाद के मुताबिक, रहमान ने कहा शरीयत व्यवस्था के लिए हम पाकिस्तान में जिस तरह का व्यवहारिक संघर्ष कर रहे हैं वैसा ही हम कश्मीर में करते रहेंगे और इसी तरह हम भारत में भी शरीयत व्यवस्था लागू करेंगे। लोगों की समस्याओं का यही एक समाधान है।
   
करीब 45 मिनट 52 सेकंड का यह वीडियो पश्तू में है, उसके उप शीर्षक उर्दू में हैं और इसे टीटीपी की प्रसारण शाखा उमर मीडिया ने तैयार किया है।
 
 
 
टिप्पणियाँ