रविवार, 30 अगस्त, 2015 | 05:02 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
उत्तर कोरिया ने रॉकेट प्रक्षेपित किया, UNSC की आपात बैठक
प्योंगयांग, एजेंसी First Published:13-04-2012 10:18:46 AMLast Updated:13-04-2012 10:37:49 AM
Image Loading

उत्तर कोरिया ने शुक्रवार को लंबी दूरी का एक रॉकेट प्रक्षेपित किया जो प्रक्षेपण के तुरंत बाद विघटित हो गया और समुद्र में गिर गया। दक्षिण कोरिया और जापान के अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्रालय ने बताया कि यह रॉकेट प्रक्षेपण सुबह 7:39 बजे (भारतीय समयानुसार चार बजकर नौ मिनट) हुआ। रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता किम मिन सीओक ने संवाददाताओं से कहा, लगता है कि यह रॉकेट प्रक्षेपण असफल रहा।

सीओक ने कहा, प्रक्षेपण के कुछ ही मिनटों बाद रॉकेट कई टुकड़ों में विघटित हो गया और अपने आप नीचे गिर गया। उन्होंने कहा कि अमेरिकी और दक्षिण कोरियाई अधिकारी इस प्रक्षेपण पर निगरानी रखे हुए थे।

उत्तर कोरिया कहता आया है कि यह रॉकेट शांतिपूर्ण शोध उद्देश्यों के लिए एक उपग्रह को अंतरिक्ष की कक्षा में स्थपित करने के लिए है, लेकिन पश्चिमी देश इस प्रक्षेपण को गुप्त बैलिस्टिक परीक्षण के रूप में देख रहे हैं। पश्चिमी देशों ने कहा था कि यह प्रक्षेपण संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा उत्तर कोरिया पर लगाए गए प्रतिबंधों का उल्लंघन होगा।

संयुक्त राष्ट्र के एक राजदूत ने कहा कि सुरक्षा परिषद एक आपात बैठक में इस प्रक्षेपण के बाद अपने अगले कदम की समीक्षा करेगा। जर्मनी के विदेश मंत्री गुइडो वेस्टरवेल ने तुंरत ही प्रक्षेपण की निंदा करते हुए कहा कि यह अंतरराष्ट्रीय जिम्मेदारियों का उल्लंघन है और इससे कोरियाई प्रायद्वीप में तनाव बढ़ेगा।

वहीं जापान के रक्षा मंत्री नाओकी तनाका ने संवाददताओं से कहा, हमें उत्तर कोरिया द्वारा प्रक्षेपित एक फ्लाइंग ओब्जेक्ट की जानकारी मिली है। यह प्रक्षेपण सुबह 7:40 पर हुआ। तनाका ने कहा कि माना जा रहा है कि यह रॉकेट एक मिनट से ज्यादा समय तक उड़ा और फिर समुद्र में गिर गया।

उत्तर कोरिया कहता आया है कि उसका रॉकेट प्रक्षेपण प्रतिबंधित मिसाइल का प्रक्षेपण नहीं है और उपग्रह का प्रक्षेपण उसका अधिकार है। वह यह उपग्रह प्रक्षेपण अपने संस्थापक नेता किम इल सुंग के जन्म शताब्दी के अवसर पर कर रहा है।

30 मीटर लंबे उन्हा-3 रॉकेट को देश के उत्तर पश्चिमी पीले सागर तट पर नवनिर्मित अंतरिक्ष केंद्र पर प्रक्षेपण के लिए रखा गया था।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingगावस्कर ने पुजारा की तारीफों के पुल बांधे
अपनी अच्छी तकनीक और शांत चित के कारण चेतेश्वर पुजारा क्रीज पर अपने पांव जमाने में माहिर हैं और पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने भी इस युवा बल्लेबाज की आज जमकर तारीफ की जिन्होंने अपने नाबाद शतक से भारत को संकट से उबारा।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब संता के घर आए डाकू...
आधी रात को संता के घर डाकू आए।
संता को जगाकर पूछा: यह बताओ कि सोना कहां है?
संता (गुस्से से): इतना बड़ा घर है कहीं भी सो जाओ। इतनी छोटी बात के लिए मुझे क्यों जगाया!