शनिवार, 25 अक्टूबर, 2014 | 00:14 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
मजबूत लोकतंत्र चाहती है पाक सेनाः कयानी
इस्लामाबाद, एजेंसी First Published:01-05-12 12:15 PM
Image Loading

पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल अशफाक परवेज कयानी का कहना है कि सेना मजबूत लोकतांत्रिक व्यवस्था में यकीन रखती है और देश का विकास एवं कल्याण सरकारी संस्थाओं के संवैधानिक दायरे में रहकर काम करने पर ही निर्भर करता है।

कयानी ने सेना के यौम-ए-शहादा (शहीद दिवस) के मौके पर अपने संबोधन में कहा, देश के संविधान ने राष्ट्रीय संस्थाओं की जिम्मेदारियों और उनके कामकाज को स्पष्ट तौर पर परिभाषित किया है। यह उनके लिए जरूरी है कि वे संवैधानिक दायरे में रहकर काम करें।

उन्होंने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था का अहम मकसद जनता की भलाई, खुशी और उनके स्वाभिमान को सुनिश्चित करना है तथा एक ऐसा संतुलित समाज बनाना भी है जहां सभी को बराबर का इंसाफ मिल सके।  

माना जा रहा है कि उनका इशारा सुप्रीम कोर्ट द्वारा प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी को अदालती अवमानना का दोषी करार दिए जाने के मामले की ओर था। कयानी ने कहा, यही एक रास्ता है, जिसके जरिए पाकिस्तान की राष्ट्रीय सुरक्षा को आगे मजबूत किया जा सकता है।
 
 
 
टिप्पणियाँ