गुरुवार, 28 मई, 2015 | 23:38 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    मोदी ने मनमोहन से लिया था एक घंटे इकॉनोमी का ज्ञानः राहुल लोकलुभावन रास्ते की बजाय अधिक कठिन मार्ग चुना :मोदी CBSE 10th रिजल्ट: 94,447 छात्रों को मिला 10 सीजीपीए सोनिया की मौजूदगी में हुई बैठक, पास हुआ मोदी के खिलाफ निंदा प्रस्ताव जेट एयरवेज की टिकटों पर 25 प्रतिशत छूट की पेशकश रायबरेली पहुंची सोनिया गांधी व्यापम घोटाला: अब तक जांच से जुड़े 40 लोगों की मौत त्रिपुरा सरकार ने राज्य में 18 सालों से लगा अफस्पा हटाया गुर्जर आंदोलन: बैंसला बोले, चाहे कुछ हो जाए बिना आरक्षण लिए नहीं लौटेंगे कुछ इस तरह हुई फीफा के 14 अधिकारियों की गिरफ्तारी
चीनी लेखक मो यान को साहित्य का नोबल
स्टॉकहोम, एजेंसी First Published:11-12-12 11:34 AM
Image Loading

चीनी लेखक मो यान को वर्ष 2012 के लिए साहित्य का नोबल पुरस्कार दिया गया है। उन्हें यह पुरस्कार स्टॉकहोम कांसर्ट हॉल में सोमवार को आयोजित एक कार्यक्रम में दिया गया।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, नोबल पुरस्कार 2012 का समारोह स्वीडन की शाही धुन 'द किंग्स सन' से शुरू हुआ। मो यान ने काले रंग का औपचारिक वस्त्र पहन रखा था। वह धीरे-धीरे अपनी सीट तक पहुंचे और वहां अन्य नोबल पुरस्कार विजेताओं के साथ बैठ गए।

नोबल फाउंडेशन बोर्ड के अध्यक्ष मार्कस स्टॉर्च ने सबसे पहले समारोह को सम्बोधित किया। उन्होंने स्वीडन में आयोजित समारोह में भाग लेने वाले विजेताओं का स्वागत किया। स्वीडन के राजा कार्ल 16वें ने मो यान को नोबल डिप्लोमा, पदक तथा पुरस्कार राशि की पुष्टि करने वाले दस्तावेज दिए।

इससे पहले नोबल पुरस्कार की जूरी के सदस्यों ने साहित्य के क्षेत्र में मो यान की उपलब्धियों का जिक्र किया। राजा ने वर्ष 2012 के लिए भौतिकशास्त्र, रसायनशास्त्र, शरीरविज्ञान, चिकित्सा तथा अर्थशास्त्र के क्षेत्र में भी विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किए।

वर्ष 1901 से ही नोबल पुरस्कार 10 दिसम्बर को प्रदान किए जाते हैं। उसी दिन अल्फ्रेड नोबल की पुण्यतिथि है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
Image Loadingमूडी, पोटिंग, फ्लेमिंग या विटोरी हो सकते हैं टीम इंडिया के नए कोच
भारतीय टीम के पूर्व कोच डंकन फ्लेचर का कार्यकाल खत्म हो चुका है और बीसीसीआई अब एक नए कोच की तलाश में जुटी हुई है। टीम इंडिया का कोच बनना एक बड़ी चुनौती होती है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड