मंगलवार, 03 मार्च, 2015 | 16:38 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
राज्यसभा: मायावती ने की प्राइवेट सेक्टर में आरक्षण की मांग।मोदी: स्वच्छता अभियान गरीबों के लिए है।सरकारों ने नहीं देश को मजदूरों और किसानों ने बनाया है: मोदी।मोदी: देश को आगे ले जाने में सभी का सहयोग चाहिए।मोदी: देश कानून के दायरे से चलना चाहिए।मोदी: लोकतंत्र धमकी से नहीं चल सकता है।राज्यसभा में बोले नरेंद्र मोदी, देश कानून के दायरे में चले, लोकतंत्र में धमकियां कभी नहीं चली हैं।
चीनी लेखक मो यान को साहित्य का नोबल
स्टॉकहोम, एजेंसी First Published:11-12-12 11:34 AM
Image Loading

चीनी लेखक मो यान को वर्ष 2012 के लिए साहित्य का नोबल पुरस्कार दिया गया है। उन्हें यह पुरस्कार स्टॉकहोम कांसर्ट हॉल में सोमवार को आयोजित एक कार्यक्रम में दिया गया।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, नोबल पुरस्कार 2012 का समारोह स्वीडन की शाही धुन 'द किंग्स सन' से शुरू हुआ। मो यान ने काले रंग का औपचारिक वस्त्र पहन रखा था। वह धीरे-धीरे अपनी सीट तक पहुंचे और वहां अन्य नोबल पुरस्कार विजेताओं के साथ बैठ गए।

नोबल फाउंडेशन बोर्ड के अध्यक्ष मार्कस स्टॉर्च ने सबसे पहले समारोह को सम्बोधित किया। उन्होंने स्वीडन में आयोजित समारोह में भाग लेने वाले विजेताओं का स्वागत किया। स्वीडन के राजा कार्ल 16वें ने मो यान को नोबल डिप्लोमा, पदक तथा पुरस्कार राशि की पुष्टि करने वाले दस्तावेज दिए।

इससे पहले नोबल पुरस्कार की जूरी के सदस्यों ने साहित्य के क्षेत्र में मो यान की उपलब्धियों का जिक्र किया। राजा ने वर्ष 2012 के लिए भौतिकशास्त्र, रसायनशास्त्र, शरीरविज्ञान, चिकित्सा तथा अर्थशास्त्र के क्षेत्र में भी विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किए।

वर्ष 1901 से ही नोबल पुरस्कार 10 दिसम्बर को प्रदान किए जाते हैं। उसी दिन अल्फ्रेड नोबल की पुण्यतिथि है।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड