बुधवार, 26 नवम्बर, 2014 | 02:10 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    झारखंड में पहले चरण में लगभग 62 फीसदी मतदान  जम्मू-कश्मीर में आतंक को वोटरों का मुंहतोड़ जवाब, रिकार्ड 70 फीसदी मतदान  राज्यसभा चुनाव: बीरेंद्र सिंह, सुरेश प्रभु ने पर्चा भरा डीडीए हाउसिंग योजना का ड्रॉ जारी, घर का सपना साकार अस्थिर सरकारों ने किया झारखंड का बेड़ा गर्क: मोदी नेपाल में आज से शुरू होगा दक्षेस शिखर सम्मेलन  दक्षिण एशिया में शांति, विकास के लिए सहयोग करेगा भारत काले धन पर तृणमूल का संसद परिसर में धरना प्रदर्शन 'कोयला घोटाले में मनमोहन से क्यों नहीं हुई पूछताछ' दो राज्यों में प्रथम चरण के चुनाव की पल-पल की खबर
लॉबिंग मामले में वालमार्ट ने नहीं किया अमेरिकी कानून का उल्लंघन: अमेरिका
वाशिंगटन, एजेंसी First Published:11-12-12 11:03 AMLast Updated:11-12-12 12:13 PM
Image Loading

भारतीय बाजार तक पहुंच बनाने के लिए सांसदों के साथ की गई गई लॉबिंग पर वालमार्ट द्वारा 125 करोड़ रुपये खर्च किए जाने की खबरों से उत्पन्न विवाद के बीच अमेरिका ने कहा है कि विश्व की प्रमुख खुदरा कंपनी ने मामले में किसी अमेरिकी कानून का उल्लंघन नहीं किया है।

अमेरिकी विदेश विभाग की प्रवक्ता विक्टोरिया नुलैंड ने भारत के विपक्षी दलों के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि अमेरिका की दृष्टि से मैं नहीं मानती कि हमने यहां किसी अमेरिकी कानून का उल्लंघन किया है। जहां तक भारत की बात है तो आप उनसे बात करिए। वह भारत में विपक्षी दलों के आरोपों के बारे में पूछे गए सवालों का जवाब दे रही थीं।

उन्होंने कहा कि हमने ये खबरें देखी हैं। अमेरिका में लॉबिंग के संबंध में मुझे लगता है कि आपको लॉबी डिस्क्लोजर एक्ट 1995 और ओनेस्ट लीडरशिप एंड ओपन गवर्नमेंट एक्ट 2007 की जानकारी होगी जिसके अनुसार हर कंपनी को एक रिपोर्ट में अपनी लॉबिंग गतिविधियों की जानकारी देनी होती है।

नुलैंड ने कहा कि इन आरोपों में जिस रिपोर्ट का जिक्र किया गया है वह अमेरिका द्वारा समय समय पर मांगी जाने वाली एक रिपोर्ट है। यह हमारी सरकार की पारदर्शिता प्रणाली का एक हिस्सा है। इस बीच वालमार्ट ने भी किसी गलत गतिविधि में शामिल होने से इनकार किया है। 

कंपनी ने एक प्रवक्ता ने कहा कि सभी आरोप झूठे हैं। अमेरिकी कानून के अनुसार अमेरिकी कंपनियों को लॉबिंग से जुड़े मामलों और खर्च के बारे में हर तीन महीने में जानकारी देनी होती है। इस खर्च में लॉबिंग से जुड़े स्टाफ और वकीलों का खर्च भी शामिल है। प्रवक्ता ने बताया कि कंपनी ने अमेरिकी अधिकारियों से व्यापार और निवेश के मुद्दे पर विमर्श किया और इसे कानूनी बताया।

 
 
 
 
टिप्पणियाँ