बुधवार, 29 जुलाई, 2015 | 16:59 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
याकूब की फांसी का रास्ता साफ, सुप्रीम कोर्ट ने कहा, डेथ वारंट सही, नागपुर जेल में कल सुबह 7 बजे याकूब को होगी फांसी
आतंकवाद से सर्वाधिक प्रभावित देशों में शामिल है भारत
न्यूयार्क, एजेंसी First Published:04-12-2012 03:41:35 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

एक नए वैश्विक अध्ययन के अनुसार भारत, पाकिस्तान और अफगानिस्तान साल 2011 में आतंकवाद से सर्वाधिक प्रभावित देशों में शामिल हैं। अध्ययन में कहा गया है कि वर्ष 2003 में इराक युद्ध शुरू होने के बाद से दुनियाभर में आतंकवादी हमलों में चार गुना वृद्धि हुई है।
   
द इनॉगरल ग्लोबल टेररिज्म इंडेक्स (जीटीआई) में कहा गया है कि 2002 से 2009 के बीच दुनिया भर में हुई कुल आतंकवादी घटनाओं की 12 फीसदी घटनाएं पाकिस्तान में, 11 फीसदी भारत में और 10 फीसदी अफगानिस्तान में हुईं।
   
साल 2011 में पश्चिम एशिया, भारत, पाकिस्तान और रूस आतंकवाद से सर्वाधिक प्रभावित क्षेत्र थे। साल 2011 में आतंकवाद के कारण 7473 लोग हताहत हुए जो 2007 से 25 फीसदी कम है।
   
रिपोर्ट में कहा गया है कि अमेरिका में 11 सितंबर की घटना के बाद आतंकवादी घटनाओं में वस्तुत: हर साल वृद्धि हुई है। ज्यादातर आतंकवादी हमले व्यापक संघर्ष की स्थिति में हो रहे हैं।
   
सूचकांक दर्शाता है कि इराक युद्ध के तेज होने के बाद वैश्विक आतंकवाद बढ़ना शुरू हुआ। अफगानिस्तान में आतंकवादी वारदात तेज होने और उसके 18 महीने बाद पाकिस्तान में आतंकवादी घटनाओं से इसमें और वृद्धि हुई।
   
साल 2007 से अतंकवादी घटनाओं के हताहतों में 25 फीसदी की गिरावट आई। साल 2011 में भी इराक आतंकवाद से सर्वाधिक प्रभावित देश रहा। अमेरिका, अल्जीरिया और कोलंबिया में विगत 10 वर्षों में सर्वाधिक सुधार हुआ है।
   
सूचकांक का निर्माण करने वाली इंस्टीट्यूट फॉर इकॉनोमिक्स एंड पीस के कार्यकारी अध्यक्ष स्टीव किल्लेलीया ने कहा कि आतंकवाद हमारे समय का सर्वाधिक भावोत्तेजक विषय है। विगत तीन वर्षों में आतंकवाद के प्रभाव में स्थिरता आई लेकिन अब भी इसकी दर काफी उंची है।

 
 
 
अन्य खबरें
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingप्रतिबंध हटाने के लिए बीसीसीआई से संपर्क करूंगा: श्रीसंत
जब वह तिहाड़ जेल में था तो वह आत्महत्या के बारे में सोच रहा था लेकिन तेज गेंदबाज एस श्रीसंत को अब उम्मीद बंध गई है कि वह वापसी कर सकते हैं और खुद पर लगे प्रतिबंध को हटाने के लिये वह बीसीसीआई से संपर्क करेंगे।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड