सोमवार, 24 नवम्बर, 2014 | 06:27 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
भारत-चीन के पास विश्व को प्रभावित करने की ताकत
वाशिंगटन, एजेंसी First Published:18-12-12 11:20 AM
Image Loading

एशिया में भारत और चीन के बढ़ते महत्व को रेखांकित करते हुए एक शीर्ष भारतीय राजनयिक ने कहा कि ये दोनों देश जो विकल्प देंगे, उससे ना केवल वे खुद, बल्कि विश्व प्रभावित होगा।
   
अमेरिका में भारत के उप दूत अरुण क़े सिंह ने भारत-चीन संबंधों पर अपने भाषण में कहा कि भारत मानता है कि साथ मिलकर काम करना भारत और चीन के पारस्परिक हित में है और इससे द्विपक्षीय एवं अन्य पक्षों के साथ अनिश्चितता घटेगी और एक ऐसा अंतरराष्ट्रीय वातावरण तैयार होगा जो उनके घरेलू बदलाव के प्रयासों के लिए मददगार होगा।
   
उनका बयान ऐसे समय में आया है जब हाल ही में विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने चीन को एक बड़ी तस्वीर का हिस्सा बताते हुए कहा था कि हमारे वैश्विक दृष्टिकोण के संदर्भ में चीन बहुत महत्वपूर्ण है। सिंह ने कहा कि भारत और चीन आज जो विकल्प देते हैं उससे विश्व प्रभावित होगा।
   
फाउंडेशन फार इंडिया एंड इंडियन डायसपोरा स्टडीज द्वारा आयोजित सेमीनार को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि एशियाई और वैश्विक ताकतों के रूप में उभरते भारत और चीन के लिए वास्तव में महत्वपूर्ण हो जाता है कि वे एक-दूसरे के हितों एवं आकांक्षाओं के प्रति संवेदनशील बनें।

 
 
 
टिप्पणियाँ