बुधवार, 29 जुलाई, 2015 | 06:03 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    भारत को लौटाया जाए कोहिनूर हीरा: कीथ वाज  याकूब की फांसी की सजा बदलने के लिए महाराष्ट्र के मुस्लिम विधायकों ने राष्ट्रपति से की अपील हो जाइए तैयार अब स्पाइसजेट सिर्फ 999 रुपये में कराएगी हवाई सफर कलाम के सम्मान में संसद दो दिनों के लिए स्थगित, मंत्रिमंडल ने शोक जताया बढ़ चला बिहार कार्यक्रम को हाईकोर्ट का झटका, ऑडियो-विडियो प्रदर्शन पर रोक CCTV में कैद हुए गुरदासपुर हमले के गुनहगार, AK-47 लिए सड़कों पर घूमते दिखे आतंकी साड़ी, शॉल, आम की कूटनीति बंद कर पाकिस्तान के खिलाफ इंदिरा जैसा साहस दिखाये PM मोदी 29 जुलाई से बाजार में आएगा माइक्रोसॉफ्ट ओएस विंडोज-10, करें डाउनलोड पीएम मोदी ने दी कलाम को श्रद्धांजलि, बोले- भारत ने खोया अपना रत्न कलाम का अंतिम संस्कार रामेश्वरम में होगा, पीएम मोदी सहित कई हस्तियों के पहुंचने की संभावना
भारत-चीन के पास विश्व को प्रभावित करने की ताकत
वाशिंगटन, एजेंसी First Published:18-12-2012 11:20:49 AMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

एशिया में भारत और चीन के बढ़ते महत्व को रेखांकित करते हुए एक शीर्ष भारतीय राजनयिक ने कहा कि ये दोनों देश जो विकल्प देंगे, उससे ना केवल वे खुद, बल्कि विश्व प्रभावित होगा।
   
अमेरिका में भारत के उप दूत अरुण क़े सिंह ने भारत-चीन संबंधों पर अपने भाषण में कहा कि भारत मानता है कि साथ मिलकर काम करना भारत और चीन के पारस्परिक हित में है और इससे द्विपक्षीय एवं अन्य पक्षों के साथ अनिश्चितता घटेगी और एक ऐसा अंतरराष्ट्रीय वातावरण तैयार होगा जो उनके घरेलू बदलाव के प्रयासों के लिए मददगार होगा।
   
उनका बयान ऐसे समय में आया है जब हाल ही में विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने चीन को एक बड़ी तस्वीर का हिस्सा बताते हुए कहा था कि हमारे वैश्विक दृष्टिकोण के संदर्भ में चीन बहुत महत्वपूर्ण है। सिंह ने कहा कि भारत और चीन आज जो विकल्प देते हैं उससे विश्व प्रभावित होगा।
   
फाउंडेशन फार इंडिया एंड इंडियन डायसपोरा स्टडीज द्वारा आयोजित सेमीनार को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि एशियाई और वैश्विक ताकतों के रूप में उभरते भारत और चीन के लिए वास्तव में महत्वपूर्ण हो जाता है कि वे एक-दूसरे के हितों एवं आकांक्षाओं के प्रति संवेदनशील बनें।

 
 
 
अन्य खबरें
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingप्रतिबंध हटाने के लिए बीसीसीआई से संपर्क करूंगा: श्रीसंत
जब वह तिहाड़ जेल में था तो वह आत्महत्या के बारे में सोच रहा था लेकिन तेज गेंदबाज एस श्रीसंत को अब उम्मीद बंध गई है कि वह वापसी कर सकते हैं और खुद पर लगे प्रतिबंध को हटाने के लिये वह बीसीसीआई से संपर्क करेंगे।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड