रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 13:59 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    महाराष्ट्र में नई सरकार के शपथ ग्रहण में शामिल होंगे मोदी एयर इंडिंया के कई पायलट खत्म लाइसेंस पर उड़ा रहे हैं विमान इराक में आईएस के ठिकानों पर अमेरिका के 23 हवाई हमले राजनाथ ने युवाओं से शांति और सौहार्द का संदेश फैलाने को कहा  शीतकालीन सत्र से पहले नए योजना निकाय का गठन कर सकती है सरकार  आज मोदी की चाय पार्टी में शामिल हो सकते हैं शिवसेना सांसद शिक्षिका ने की थी गोलीबारी रोकने की कोशिश नांदेड-मनमाड पैसेजर ट्रेन के डिब्बे में आग,यात्री सुरक्षित दिल्ली के त्रिलोकपुरी में हिंसा के बाद बाजार बंद, लगाया गया कर्फ्यू मोदी की मौजूदगी में मनोहर लाल खट्टर ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ
ओबामा से बोले सांसद, मोदी को नहीं दिया जाए वीजा
वाशिंगटन, एजेंसी First Published:05-12-12 01:14 PMLast Updated:05-12-12 02:02 PM
Image Loading

ओबामा प्रशासन से सार्वजनिक अपील करते हुए अमेरिकी सांसदों के एक शक्तिशाली समूह ने कहा है कि गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ मानवता के विरुद्ध अपराध के गंभीर आरोपों को ध्यान में रखते हुए किसी भी परिस्थिति में उन्हें वीजा नहीं देने की अच्छी नीति में बदलाव नहीं किया जाए।
     
सांसद जोइ पिट्स ने कैपिटल हिल में कई अन्य सांसदों तथा गुजरात दंगा पीड़ितों के परिजनों के साथ संवाददाता सम्मेलन में कहा कि वर्ष 2000 में हमलों के बाद मुख्यमंत्री मोदी और उनकी सरकार की दंगों पर प्रतिक्रिया, न्याय में अड़चन एवं मानवाधिकारों का सरासर उल्लंघन है और अमेरिकी ने इसकी पूरी तरह से निंदा की है।
     
गुजरात के मुख्यमंत्री को अमेरिकी वीजा मंजूरी नहीं करने को लेकर 29 नवंबर को विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन को 24 अन्य सांसदों के साथ पत्र लिखने वाले पिट्स ने आरोप लगाया कि मोदी अब दर्दनाक दंगों से अपना नाम हटाने और भारत में उच्च पद हासिल करने के प्रयास में जनसंपर्क अभियान में शामिल हो गये हैं।

पिट्स ने कहा कि पिछले बुश प्रशासन ने भी सही कदम उठाते हुए अमेरिका में प्रवेश करने के लिए मोदी के वीजा आवेदन को नामंजूर किया। हम वर्तमान ओबामा प्रशासन और विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन से पीड़ितों के साथ खड़े होने और अपनी नीति पर बने रहने का आहवान करते हैं।
     
उन्होंने कहा कि जब तक न्याय नहीं होता, हम ओबामा प्रशासन से मोदी को झूठ फैलाने की अनुमति नहीं देने, अमेरिका आकर भारत के प्रधानमंत्री बनने के लिए कोष जुटाने की अनुमति नहीं देने की मांग करते हैं।
     
इस संवाददाता सम्मेलन को टोम लांटोस मानवाधिकार आयोग के प्रमुख सांसद फैरंक वोल्फ, कांग्रेशियल प्रोगरेसिव काकस के प्रमुख कीथ एलिसन और कांग्रेशियल इंटरनेशनल रिलीजियस फ्रीड़ा काकस के अध्यक्ष ट्रेंट फ्रैंक्स ने संबोधित किया।   
     
सांसद कीथ एलिसन ने कहा कि मोदी अब अमेरिका आना चाहते हैं। ऐसा नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा, जब मानवाधिकार के उल्लंघन की बात हो तो हमें जवाबदेही के लिए खड़ा होना होगा। और इस मामले में हमें खड़े होकर मोदी को वीजा देने से इंकार करना होगा।
 
 
 
टिप्पणियाँ