शनिवार, 29 अगस्त, 2015 | 05:47 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
नॉर्वे में भारतीय दंपति को कैद की सजा
ओस्लो, एजेंसी First Published:04-12-2012 06:01:53 PMLast Updated:04-12-2012 06:09:11 PM
Image Loading

नॉर्वे में अपने बच्चे के साथ बुरा व्यवहार करने के सिलसिले में आपराधिक मामले का सामना कर रहे भारतीय दंपति को सजा सुनाते हुए जिला अदालत ने पिता को 18 माह की जबकि मां को 15 माह कैद की सजा सुनाई।

आंध्रप्रदेश से सॉफ्टवेयर पेशेवर चन्द्रशेखर वल्लभनेनी और उनकी पत्नी अनुपमा को पुलिस ने पिछले महीने गिरफ्तार किया था। दोनों को बार-बार धमकी देकर, हिंसा और अन्य तरीकों का सहारा लेकर अपने बच्चे के साथ बुरा व्यवहार करने के मामले में दोषी करार दिया गया है।

अभियोजन पक्ष में इस मामले में पिता के लिए 18 माह की और मां के लिए 15 माह की कैद की सजा की मांग की थी। अदालत ने उसकी मांग मानते हुए दोनों को यही सजा सुनायी।

सजा पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भारतीय विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि नॉर्वे में स्थित हमारा दूतावास इस मामले में फंसे भारतीयों के साथ है। उन्होंने कहा कि उनकी हिरासत अवधि में भी काउंसलर अधिकारी उनके सपर्क में था। हम उन्हें जरूरत के मुताबिक काउंसलर सेवा मुहैया कराते रहेंगे और उनके वकील के संपर्क में बने रहेंगे।

गिरफ्तारी और आरोपों को वैध ठहराते हुए ओस्लो पुलिस विभाग के अभियोजन पक्ष के प्रमुख कर्ट लिर ने कहा कि बच्चे के शरीर पर जलने के निशान थे और जख्म भी थे। ये बेल्ट से पीटे जाने के निशान थे।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingबारिश ने धोया पहले दिन का खेल, भारत 50/2
भारत और श्रीलंका के बीच तीसरे और आखिरी क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन शुक्रवार को बारिश के कारण दो सत्र से अधिक का खेल नहीं हो सका जबकि भारत ने पहली पारी में दो विकेट पर 50 रन बनाए।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब जय की हुई जमकर पिटाई...
वीरू (जय से): कल तुझे मेरे मोहल्ले के दस लड़कों ने बहुत बुरी तरह पीटा। फिर तूने क्या किया?
जय: मैंने उन सभी से कहा कि कि अगर हिम्मत है, तो अकेले-अकेले आओ।
वीरू: फिर क्या हुआ?
जय: होना क्या था, उसके बाद उन सबने एक-एक करके फिर से मुझे पीटा।