class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीएचयू में रेजिडेंट डाक्टरों की हड़ताल समाप्त, काम पर लौटे

बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल में दो दिन से चल रही रेजिडेंट डॉक्टरों की हड़ताल बुधवार को देर रात खत्म हो गई। वे रात से ही काम पर लौट आए हैं। इससे पहले कई दौर के वार्ता के बाद रेजीडेंट डाक्टरों का आठ सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल कुलपति आवास पर कुलपति प्रो.जीसी त्रिपाठी से मिला। उन्हें सर्जरी विभाग के वरिष्ठ प्रोफेसर डॉ.एमए अंसारी के साथ हुई मारपीट की घटना के बारे में बताया और अस्पताल परिसर में सुरक्षा बढ़ाने की मांग की।

कुलपति ने उन्हें आश्वासन दिया कि अस्पताल परिसर में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई जाएगी। डॉक्टरों की सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। वे बेफ्रिक होकर मरीजों की सेवा करें। बीएचयू प्रवक्ता डॉ.राजेश सिंह ने बताया कि कुलपति के आश्वासन के बाद रेजिडेंट डाक्टरों ने हड़ताल समाप्त कर दी। कुलपति के साथ वार्ता में आईएमएस निदेशक प्रो.वीके शुक्ल, अस्पताल अधीक्षक डॉ.ओपी उपाध्याय, कुलसचिव नीरज त्रिपाठी, प्रो.जेपी ओझा आदि थे।

सर्जरी विभाग के वरिष्ठ प्रोफेसर और डिप्टी चीफ प्रॉक्टर एमए अंसारी के साथ हुई मारपीट के विरोध में रेजिडेंट डॉक्टर मंगलवार को सुबह से हड़ताल पर चले गए थे। उनका कहना था कि इस मामले में तीमारदारों के खिलाफ एफआईआर दर्ज है। इसके बावजूद दोषियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है। रेजिडेंट डॉक्टर अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था से भी नाखुश हैं।

उनका कहना है कि डॉक्टरों के साथ मारपीट की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं। बार-बार सुरक्षा मजबूत करने का वादा तो किया जाता है लेकिन उसे पूरे नहीं किया जा रहा, जिससे अवांछनीय तत्वों का मन बढ़ा हुआ है। बुधवार को भी जारी रही। हड़ताल के कारण सर संुदरलाल अस्पताल की ओपीडी पूरी तरह ठप रही। इमरजेंसी सेवाएं भी प्रभावित हो रही है। दूरदराज से आए मरीज बगैर इलाज वापस हो गए। कई को मंडलीय और जिला अस्पताल भेज दिया गया।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Resident doctors strike in BHU, returned to work