class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो मंजिला मकान ढहा, मलबे से जिन्दा निकाली गई महिला

दो मंजिला मकान ढहा, मलबे से जिन्दा निकाली गई महिला

वाराणसी के जैतपुरा स्थित शक्कर तालाब इलाके में 60 साल पुराना मकान ढह गया। ढहे मकान के मलबे में 50 वर्षीया रुखसाना बेगम दब गई। घंटों के प्रयास के बाद एनडीआरएफ ने उन्हें जिन्दा बाहर निकालने में सफलता पा ली। शक्कर तालाब में स्व. रमजान अली महतो ने 60 साल पहले मकान बनवाया था। इसका अगला हिस्सा दो मंजिल और पिछला तीन मंजिल का है। रमजान अली के आठ बेटे परिवार सहित इसी मकान में रहते और बुनकारी करते हैं। परिवार के मुताबिक, तेज बरसात में पिछले सप्ताह मकान का कुछ हिस्सा गिर गया था। इसके बाद सात भाई परिवार सहित दूसरी जगहों पर रहने चले गए थे। घर की देखभाल के लिए मो. यासीन अपनी पत्नी रुखाना बेगम के साथ यहीं रुका था।

बुधवार की सुबह तेज आवाज के साथ मकान के आगे का हिस्सा अचानक भरभरा कर ढह गया। यासीन घर के बाहर थे, मलबे की चपेट में आकर चोटिल हुए। घर में मौजूद उनकी पत्नी रुखसाना बेगम मलबे में दब गईं। क्षेत्रीय लोगों ने पुलिस को सूचना दी और बचाव कार्य शुरू किया गया। मगर दो मंजिला मकान के मलबे में दबी महिला को खोज पाना आसान नहीं था।

पुलिस की सूचना पर एनडीआरएफ की टीम पहुंची। कमांडेंट राणा संग्राम सिंह की अगुवाई में बचाव कार्य शुरू किया गया। लगभग दो घंटे की मशक्कत के बाद गंभीर रूप से जख्मी मगर जिंदा हाल में रुखसाना बेगम को मलबे से निकाल लिया गया। उन्हें मंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मकान ढहने के कारण अगल-बगल के मकानों को भी नुकसान पहुंचा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:two storeyed building collapsed in varanasi ndrf rescued a woman