class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जू. इंजीनियरों का लोक निर्माण विभाग में प्रदर्शन

जू. इंजीनियरों का लोक निर्माण विभाग में प्रदर्शन

पीडब्ल्यूडी के अवर अभियंताओं (विद्युत यांत्रिक) ने बुधवार को लोक निर्माण विभाग में प्रदर्शन किया। डिप्लोमा इंजीनियर्स संघ (लोनिवि) के अध्यक्ष हरि किशोर तिवारी ने कहा कि अवर अभियंताओं के पास कोई कार्य नहीं है। इससे उनमें जबरदस्त गुस्सा है। विभाग में भवन सम्बन्धी कार्य व सड़कों के निर्माण में सरकारी मशीनों के उपयोग न होने से सैकड़ों की संख्या में विद्युत यांत्रिक संवर्ग के अवर अभियंता बेकार घूम रहे हैं। जिन पर विभाग प्रतिमाह करोड़ों रुपये वेतन के रूप में खर्च कर रहा है। 

वर्ष 2002 में 'टाटा कंसलटेंसी' द्वारा जारी रिपोर्ट के आधार पर बेकार घूम रहे अवर अभियंता को सिविल की ट्रेनिंग दिलाकर कार्य लिये जाने का प्रस्ताव शासन ने मानते हुए 20 अवर अभियंताओं को वर्ष 2003 में छह महीने की ट्रेनिंग दिलाकर सिविल कार्य में लगाया गया था, लेकिन 14 वर्षों से विभाग ने उस व्यवस्था को बन्द कर रखा है। बिना कार्य ही करोड़ों रुपये वेतन के रूप में विद्युत यांत्रिक संवर्ग पर खर्च कर रहा है। विभाग में कुछ अधिकारियों की हठधर्मिता की वजह से यह प्रक्रिया शुरू नहीं हो पा रही है।

प्रमुख अभियंता विकास एवं विभागाध्यक्ष वीके सिंह द्वारा सड़कों को गढ्ढा मुक्त किये जाने में आ रही कठिनाइयों का शीघ्र निराकरण करने का आश्वासन दिया। इसके बाद धरना-प्रदर्शन को स्थगित कर दिया गया। प्रदर्शन में दिवाकर राय, वीके कुशवाहा,एनडी द्विवेदी, एसके त्रिपाठी व रामवीर सिंह सहित कई पदाधिकारियों ने हिस्सा लिया। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:jr engineers protest in public works department
From around the web