class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एएमूय में एक नवंबर को 64वें दीक्षांत समारोह में 212 पदकों में से 145 छात्राओं के नाम

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में एक बार फिर ‘आधी आबादी’ ने साबित कर दिया, उनसे आगे कोई नहीं। एक नवंबर को आयोजित होने वाले 64वें दीक्षांत समारोह में 212 पदक विजेता में से 145 छात्राएं हैं। मेडिसिन संकाय में 95 फीसदी पदक छात्राओं के नाम हैं। एम.टेक में 95 प्रतिशत पद छात्राओं को पहनाए जाएंगे। महज 67 पदक छात्रों के नाम इस बार गए हैं।

सायमा और सिम्मी के नाम ज्यादा पदक
पदकों की दौड़ में हमेशा से मेडिसिन संकाय के छात्र आगे रहते हैं। इस बार मेडिसिन संकाय के साथ जीव विज्ञान संकाय ने बराबरी की है। एमबीबीएस की छात्रा सायमा और एमएससी जंतु विज्ञान की छात्रा सिम्मी अंजुम को चार-चार पदक दिए जाएंगे। बी.टेक की दीक्षा सिंह, बी.एससी बायो केमिस्ट्री की सिदरा गजाली रिजवी, एमएससी एग्रीकल्चर प्रोसेसिंग इंशा जहूर, एमबीबीएस की मरियम ने तीन-तीन पदकों पर नाम लिखवाया है।

हिंदुओं को दिया जाने वाला पदक भी छात्रा को
बीए, बीएससी और बीकॉम में सर्वाधिक अंक पाने वाले हिंदू छात्र-छात्राओं को राजा जयकिशन दास पदक दिया जाता है। इस पदक पर भी छात्रा ने ही नाम लिखवाया है। बी.एससी ऑनर्स कंप्यूटर एप्लीकेशन की छात्रा ऐश्वर्या गुप्ता ने तीनों पाठ्यक्रमों में सर्वाधिक अंक पाकर इस पदक पर हक जमाया है।

नोबेल पुरस्कार वैज्ञानिक को दी जाएगी मानद डीएससी
दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि यूएई शोभी बैटर्जी से आएंगे। लेकिन जापान के नोबेल पुरस्कार विजेता भौतिकी वैज्ञानिक तकाकी कजीता को डी.एससी की मानद उपाधि दी जाएगी।

छात्राएं बेहतर करती हैं तो खुशी होती है। इस बार दीक्षांत समारोह में वैज्ञानिक तकाकी कजीता को मानद डी.एससी दी जाएगी। यूएई के शोर्भी बैटर्जी मुख्य अतिथि होंगे।
जमीरउद्दीन शाह, वीसी, एएमयू
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:aligarh muslim university convocation will show power of girls