class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आगरा: बर्ड फेस्टिवल का आगाज, तीन दिन सिर्फ चिड़ियों पर होगी चर्चा

आगरा: बर्ड फेस्टिवल का आगाज, तीन दिन सिर्फ चिड़ियों पर होगी चर्चा

चंबल घाटी में अब गोलियों की गूंज नहीं चिड़ियों की चहचहाट गूंजती है। भांति-भांति की चिड़ियां। स्थानीय लोग भले इनके बारे में ज्यादा जानकारी न रखते हों किंतु इनको देखने और जानने को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उत्सुकता है। यही उत्सुकता देश और दुनिया से पक्षी विशेषज्ञों को यहां खींच लाती है। तीन दिन तक यह विशेषज्ञ पक्षियों के कंजरवेशन पर यहां मंथन करेंगे। यह सिलसिला शुक्रवार से शुरू होगा।

पिछले साल की तरह इस बार भी तीन दिवसीय बर्ड फेस्टीवल जरार स्थित चंबल सफारी में आयोजित किया जा रहा है। दो से चार दिसंबर को होने वाले इस फेस्टीवल में तीन दिसंबर को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का आगमन प्रस्तावित है। दरअसल चंबल का इलाका अभी औद्योगिक विकास से दूर है, सो प्रकृति की गोद में तमाम पक्षी यहां खुद को महफूज समझते हैं। दुनिया के 26 देशों से 40 विशेषज्ञों के अलावा देश के विभिन्न स्थानों से 140 के करीब एक्सपर्ट इस बर्ड फेस्टीवल में हिस्सा ले रहे हैं। तीन वॉल्वो बसों से दिल्ली से चलकर 78 एक्सपर्ट गुरुवार शाम तक यहां पहुंच चुके थे। बाकी के आने का सिलसिला भी जारी था।

तीन दिन तक चलने वाले फेस्टीवल में हर दिन सात-सात सेशन रखे गए हैं। इनमें पक्षियों की प्रजाति, उनकी स्थिति खासतौर से भारतीय चिड़ियों के कंजरवेशन को लेकर मंथन होगा। विदेशी एक्सपर्ट यह भी बताएंगे कि दुनिया के बाकी देश इस दिशा में क्या कर रहे हैं। बर्ड फेस्टीवल के कन्वीनर आरर्पी सिंह का कहना है कि तीन दिन तक मंथन के बाद तमाम विशेषज्ञ बर्ड कंजरवेशन को लेकर अपनी राय देंगे। उन्होंने बताया कि इस बार का आयोजन पहले से वृहद है। यह फेस्टीवल यूपी में ईको टूरिज्म को बढ़ावा देने के साथ ही बर्ड कंजरवेशन को लेकर भी बेहद महत्वपूर्ण है।

वन विभाग के प्रदेशभर के अफसरों का डेरा
वन विभाग और वाइल्ड लाइफ से जुड़े स्थानीय से लेकर प्रदेश स्तर के तमाम अफसरों ने इन दिनों जरार में डेरा डाल दिया है। शुक्रवार को प्रमुख सचिव वन संजीव सरन के भी आने की संभावना है।

आज अभिषेक मिश्र करेंगे उद्घाटन 
बाह। जरार के चम्बल सफारी में तीन दिवसीय बर्ड फेस्टिवल का शुक्रवार सुबह दस प्रदेश सरकार के मंत्री अभिषेक मिश्र  उद्घाटन करेंगे। गुरुवार शाम देश-विदेश के कई पक्षी विशेषज्ञ चंबल सफारी पहुंच गए। इनमें इटली, अमेरिका, यूके, चीन, इटली , फ्रांस और जर्मन के पक्षी विशेषज्ञ शामिल थे। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:agra chambal safari bird festival will open today
From around the web