class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खरगोश के जोड़े की शादी के बंटे कार्ड, सजी बारात

खरगोश के जोड़े की शादी के बंटे कार्ड, सजी बारात

कार्ड बंटा, बारात सजी और शहनाई भी गूंजी। यह सब लग भले ही रहा आम लेकिन है खास। खास इसलिए कि दूल्हा और दुल्हन के रूप में खरगोश के जोड़े ने सात फेरे लिए। बाराती साहेगीबरवा का पूरा गांव बना। हल्दी, मटकोड़, पितृ नेवता, कन्यादान, लावा परछाई सहित शादी के सभी संस्कार। वैदिक मंत्रोच्चार के बीच शादी संपन्न हुई। शाम को ग्रामीणों ने दावत भी उड़ाई।

खरगोश जोड़े की शादी की कहानी थोड़ी रोचक है। निचलौल क्षेत्र के सोहगीबरवा निवासी अक्षयलाल गुप्त बिहार के सोनपुर से एक नर खरगोश खरीद कर लाए। उसका नाम अमित उर्फ़ पिंटू रखा। कुछ दिनों बाद अमित उदास रहने लगा। इस पर उन्होंने अमित की शादी करने की सोची। फिर दुल्हन की तलाश शुरू हुई। पता चला कि बिहार के नौरंगिया में संतोष गुप्ता के यहां मादा खरगोश है, जिसका नाम अनीता है। इसके बाद अक्षयलाल अनीता के घर रिश्ता लेकर पहुंच गए।

बातचीत तय हुई। 19 मार्च को शादी की तारीख भी तय हो गयी। शनिवार को अक्षयलाल ने निमंत्रण कार्ड छपवा कर ग्रामीणों में बांटा। रविवार को अपराह्न निर्धारित तिथि पर राजगढ़ी माता के स्थान पर हल्दी, मटकोड़, तिलक, कन्यादान, लावा परछाई सहित सभी पारम्परिक रीति रिवाजों से अमित और अनीता की शादी संपन्न हुई।

इतना ही नहीं शादी में निचलौल से आर्केस्ट्रा भी बुक किया गया था, जिसकी धुन पर ग्रामीण खूब थिरके। शाम को अक्षयलाल के घर पर बहुभोज की दावत दी गई, जिसमें ग्रामीणों ने लुत्फ़ उठाया। अक्षयलाल ने बताया कि अमित और अनीता की शादी करके बहुत ख़ुश हैं। अब यह जोड़ा पूर्ण हो गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Rabbit couple's wedding in maharajganj