class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दोपहर तक मनोज सिन्हा के नारे, शाम को योगी-योगी

दोपहर तक मनोज सिन्हा के नारे, शाम को योगी-योगी

यूपी के मुख्यमंत्री बनने की चर्चाओं के बीच शुक्रवार को वाराणसी पहुंचे रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने शनिवार को काशी विश्वनाथ, काल भैरव व संकट मोचन मंदिर में मत्था टेका। इस दौरान बनारस से गाजीपुर तक सुबह से दोपहर तक जगह-जगह कार्यकर्ताओं का जोश और उत्साह देखने लायक था। 

मंदिर से दर्शन करने के बाद मनोज सिन्हा नदेसर स्थित होटल गेटवे लौटे तो सैकड़ों की संख्या में मौजूद करीबियों, समर्थकों एवं पुराने मित्र उन्हें बधाई देते दिखे। गाजीपुर जाते वक्त रास्ते में बैंडबाजे के बीच हुए स्वागत के बाद शाम को जब चैनलों में योगी आदित्यनाथ के सीएम बनने की खबर सामने आई तो समर्थको में मायूसी छा गई। लोगों को यकीन नहीं हो रहा था कि अचानक सब कुछ बदल कैसे गया? 

पिछले कई दिनों से सीएम को लेकर राजनीतिक सुर्खियों में रहे मनोज सिन्हा को लेकर पूर्वांचल के भाजपा कार्यकर्ताओं में कुछ ज्यादा ही खुशी थी। मनोज सिन्हा के चेहरे की चमक व कार्यकर्ताओं का उत्साह यह बता रहा था कि यूपी के सीएम की केवल अनौपचारिक घोषणा बाकी है। बधाई संदेश देने वालों की बात सुनकर केन्द्रीय मंत्री केवल मुस्कराकर रह जाते।  

संकेत कुछ ऐसा ही था कि बस घोषणा बाकी है। हर किसी से बनारसी अंदाज में मिलते रहे और हालचाल पूछा- का हो गुरु,  का हाल हौ.। ..बनारसी अंदाज में कुछ से गले मिले तो कुछ के कंधे पर हाथ रखकर हालचाल पूछा। कोई बधाई देता तो हंसकर बोलते, काहे की बधाई? लोग कहते, भईया अबहीं के बधाई ले ला चाहे शाम के। बतिया ऐके बा। यह प्रतिक्रिया वह हंसकर टाल देते। तमाम समर्थकों ने इस उम्मीद के साथ उनके साथ सेल्फी ली कि शाम तक सीएम बन जाएंगे।  करीब एक  घंटे के मुलाकात के बाद वह गाजीपुर रवाना हुए। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: by noon manoj sinhas slogan in evening yogi-yogi