class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आदमखोर पकड़ने को मां की शरण में वन विभाग

आदमखोर पकड़ने को मां की शरण में वन विभाग

कार्बेट नेशनल पार्क से लगे रामनगर के ग्रामीण क्षेत्र में डेढ़ महीने से आतंक फैला रही आदमखोर बाघिन को पकड़ने के लिए वन विभाग ने अब मां भगवती के दरबार में अर्जी लगाई है। दो लोगों को निवाला बना चुका आदमखोर को पकड़ने के लिए हेलीकॉप्टर, ड्रोन समेत वन विभाग के सारे जतन अब तक फेल साबित हुए हैं। 

150 ग्रामीण भी शामिल 

बुधवार को ग्रामीणों के साथ वन विभाग के अफसरों ने भी तल्ला कानिया स्थित मंदिर में पूजा अर्चना की। पंडित चंद्रशेखर तिवारी, मोहन चंद्र पांडे, राजा राम पांडे, तिलक चंद्र पांडे व आचार्य राम दत्त जोशी से पूजा संपन्न करवाई। मंदिर परिसर में हुए हवन में तल्ला कानिया, गोरखपुर, बैड़ाझाल सहित गांव के 150 से अधिक लोगों ने शिरकत की। 

डीएफओ कहकशा नसीम ने बताया कि ग्रामीणों का ऐसा भरोसा है कि मां की पूजा से आदमखोर का आतंक खत्म हो जाएगा। इसलिए ग्रामीणों की आस्था का सम्मान करते हुए वन विभाग भी इस पूजा में शामिल हुआ। इसमें वन विभाग के एसडीओ बलवंत शाही, कलम सिंह बिष्ट आदि भी हवन में शामिल हुए और प्रसाद वितरित किया।

पहली घटना के समीप है मंदिर

आदमखोर ने तल्लकानिया निवासी गोविंदी देवी को अपना निवाला बनाया था। डीएफओ कहकशा नसीम ने बताया कि इलाके में आदमखोर की पहली घटना के समीप ही मंदिर है। ग्रामीणों की सलाह पर ही यहां पूजा का कार्यक्रम रखा गया था।

ड्रोन, हैलीकॉप्टर, कैमरे सब फेल

आदमखोर को पकड़ने के लिए वन विभाग ड्रोन, हैलीकॉप्टर, कैमरा ट्रैप, थर्मल कैमरे जैसी आधुनिक तकनीक अपना चुका है। पारंपरिक शिकारी राय सिखों के शिकारी कुत्तों का प्रयोग भी हुआ। पर कोई भी अब तक बाघिन का पुख्ता सुराग नहीं दे पाया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:forest department did pooja to save themselves from tiger