class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Pics: मनोज सिन्हा पहुंचे कालभैरव मंदिर, काशी विश्वनाथ के किए दर्शन

Pics: मनोज सिन्हा पहुंचे कालभैरव मंदिर, काशी विश्वनाथ के किए दर्शन

1/3Pics: मनोज सिन्हा पहुंचे कालभैरव मंदिर, काशी विश्वनाथ के किए दर्शन

 

रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा शुक्रवार को बनारस पहुंचे और आज मंदिरों के दर्शन के लिए गए। शनिवार सुबह वे वाराणसी के काल भैरव मंदिर पहुंचे और पूजा की। माला चढ़ाई और प्रार्थनाएं की। उसके बाद काशी विश्वनाथ और फिर संकटमोचन के दर पर पहुंचे। इधर सीएम के लिए उनके नाम की चर्चा जोरों से शुरू हो गई है। आज बीजेपी विधायक दल की बैठक में फैसला हो जाएगा कि कौन यूपी का सीएम बनेगा। इस बीच उन्होंने कहा कि मैं सीेएम रेस में नहीं हूं, शाम तक दिल्ली लौट जाऊंगा।

मनोज सिन्हा से मिलने पहुंचे गाजीपुर के लोगों ने कहा कि वे 19 मार्च को लखनऊ जाने की तैयारी कर रहे हैं। इस बीच मनोज सिन्हा ने शायराना अंदाज में कहा कि ख्वाहिशें बड़ी बेवफा होती हैं, पूरी होते ही बदल जाती हैं। नए मुख्यमंत्री को लेकर चल रहीं अटकलों पर उन्होंने कहा कि मुझे रेल व संचार मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गयी है, मैं इसी में खुश हूं। 

एक को नाम से पुकारा, गले मिले

होटल गेटवे में मनोज सिन्हा अपने गवई अंदाज में कार्यकर्ताओं व समर्थकों से मिले और सभी का नाम लेकर अपने पास बुलाया। कुछ से गले मिले तो कुछ के कंधे पर हाथ रखकर हालचाल पूछा। कोई बधाई देता तो हंसकर बोलते, काहे के बधाई। लोग कहते, भईया अबही के बधाई ले ला चाहे शाम के। बतिया ऐके बा। वह सुनते ही वह हंसकर टाल देते। बीएचयू आईआईटी से भी काफी संख्या में छात्र व अन्य लोग उनसे मिलने पहुंचे।

जगह जगह हुआ स्वागत

वाराणसी से गाजीपुर जाते समय केंद्रीय मन्त्री का स्वागत भावी मुख्यमंत्री के रूप में हुआ। बनारस बार्डर के अलावा सिधौना, शादीपुर, सैदपुर आदि स्थानों पर नेता और कार्यकर्ता जमे रहे और सिन्हा के पहुंचते ही फूल माला से स्वागत किया। इस बीच नारे भी गूंजे। हमारा सीएम केसा हो, मनोज सिन्हा जैसा हो।

दो दर्जन गाड़ियों का काफिला

मुख्य मंत्री बनने की आहट के साथ करीब दो दर्जन वाहनों के काफिले के साथ मनोज सिन्हा गाज़ीपुर रवाना हुए। होटल गेटवे में मुलाकात करने वालो में मेयर रामगोपाल मोहले, कैलाश केसरी , धर्मेंद्र सिंह, अन्तदेव सिंह, कल्लू मिश्र, भूपेंद्र सिंह मिंटू, पूर्व डिप्टी मेयर संजय राय समेत बीएचयू से जुड़े करीबियों के अलावा सीओ सदर, अपर नगर मजिस्ट्रेट प्रोटोकाल के रूप में मौजूद थे।

सुरक्षा के कड़े इंतजाम

प्रदेश के नए मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह के लिए जबरदस्त सुरक्षा प्रबंध किए जा रहे हैं। समारोह में नरेन्द्र मोदी की मौजूदगी के कारण केंद्रीय बलों की भी तैनाती होगी। एडीजी सुरक्षा भावेश कुमार सिंह व लखनऊ जोन के आईजी ए. सतीश गणेश को सुरक्षा प्रबंधों के नोडल अफसर की जिम्मेदारी दी गई है। 

शपथ ग्रहण समारोह 19 मार्च को कांशीराम स्मृति उपवन में शाम 5 बजे से प्रस्तावित है। समारोह में प्रधानमंत्री के अलावा कई राज्यों के मुख्यमंत्री भी मौजूद रहेंगे। इसमें बड़ी संख्या में भाजपा के नेता व कार्यकर्ता भी शामिल हो सकते हैं। इस तरह समारोह में करीब 3 लाख लोगों के शामिल होने की संभावना है। 

गृह विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि समारोह में सुरक्षा के लिहाज से 7 एसपी, 24 एएसपी व 50 डीएसपी स्तर के
पुलिस अधिकारियों के अलावा 550 इंस्पेक्टर व सब इंस्पेक्टर, 3370 सिपाही, 18 कंपनी केंद्रीय अद्धसैनिक बल,16 कंपनी पीएसी और 500 के करीब ट्रैफिक के सिपाही तैनात किए जाएंगे। प्रदेश के डीजी सुरक्षा समारोह के सुरक्षा प्रबंधों की निगरानी कर रहे हैं। 

वैसे लखनऊ जोन के आईजी को नोडल अफसर नामित किया है। प्रधानमंत्री का आगमन प्रस्तावित होने के कारण एसपीजी के अफसरों ने भी लखनऊ में डेरा डाल दिया है। शुक्रवार को समारोह स्थल पर मंच निर्माण का कार्य भी शुरू हो गया। प्रशासन एवं पुलिस के अफसरों के साथ भाजपा के नेताओं ने भी समारोह स्थल का जायजा लिया। 

Next
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:manoj sinha reaches varanasi worships kal bhairav for up cm post