class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मनोज सिन्हाः बीएचयू की राजनीति से यूपी सीएम की रेस तक का सफर

मनोज सिन्हाः बीएचयू की राजनीति से यूपी सीएम की रेस तक का सफर

केंद्रीय रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा अभी तक उत्तर प्रदेश की गाजीपुर सीट से सांसद हैं। सिन्हा का नाम भाजपा के अनुभवी नेताओं में आता है। गाजीपुर के मोहनपुरवा में जन्मे मनोज सिन्हा बीएचयू से सिविल इंजीनियरिंग में बीटेक और एमटेक की डिग्री हासिल की है।

मनोज सिन्हा की छवि काफी साफ सुथरी रही है। वे अपने कॉलेज के दिनों में भी छात्र राजनीति में भी सक्रिय रहे और बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में छात्र संघ के अध्यक्ष थे 

राजनीतिक सफर
मनोज सिन्हा 1989 से 1996 तक भाजपा की राष्ट्रीय परिषद के सदस्य रहे हैं। गाजीपुर से वह 1996 और 1999 में सांसद चुने गए। इसके बाद वह 2014 में तीसरी बार यहां से सांसद चुने गए। 

ये भी पढ़ेंः UP: विधायक दल की बैठक आज, CM की रेस में मनोज सिन्हा सबसे आगे

पीएम मोदी के करीबी हैं सिन्हा 
मनोज सिन्हा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के करीबी माने जाते हैं। पीएम मोदी और मनोज सिन्हा के बीच आरएसएस के दिनों से ही अच्छे संबंध हैं। 

बिहार से भी है मनोज सिन्हा का नाता
मनोज सिन्हा की शादी बिहार में हुई है। 1 मई 1977 को सुलतानगंज, भागलपुर की नीलम सिन्हा से उनकी शादी हुई। उनकी एक बेटी है, जिसकी शादी हो चुकी है और एक बेटा है जो एक टेलीकॉम कंपनी में काम कर रहा है। वह पूर्वांचल से आते हैं इसलिए पार्टी को वहां और मजबूत करने का जिम्मा भी वह उठाएंगे।

ये भी पढ़ेंः केशव मौर्या और योगी आदित्यानाथ को CM बनाने की मांग, लखनऊ में प्रदर्शन

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:manoj sinha may be the chief minister of uttar pradesh