Image Loading bsp chief mayawati says elections should again conduct in up - Hindustan
गुरुवार, 30 मार्च, 2017 | 04:18 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • पढ़ें रात 11 बजे की टॉप खबरें, शुभरात्रि
  • आपकी अंकराशि: जानिए कैसा रहेगा आपका कल का दिन
  • प्राइम टाइम न्यूज़: पढ़े अब तक की 10 बड़ी खबरें
  • संशोधनों के साथ सीजीएसटी बिल लोकसभा में पास
  • जीएसटी से संबंधित सभी चार बिल लोकसभा में पास
  • धर्म नक्षत्र: नवरात्रि, ज्योति, फेंगशुई से जुड़ी 10 खबरें
  • बॉलीवुड मसाला: करण जौहर के बच्चों को मिली हॉस्पिटल से छुट्टी, यहां पढ़ें,...
  • हिन्दुस्तान Jobs: असिस्टेंट इंजीनियर के 54 पद रिक्त, बीटेक पास करें आवेदन
  • योगी बोले, लोग संतों को भीख नहीं देते, मोदी ने मुझे यूपी सौंप दिया, पढ़ें राज्यों...
  • टॉप 10 न्यूज़: पढ़े अब तक की देश की बड़ी खबरें
  • योग महोत्सव में बोले सीएम योगी आदित्यनाथ, लोग साधु-संतों को भीख नहीं देते, पीएम...
  • गैजेट-ऑटो अपडेट: पढ़ें आज की टॉप 5 खबरें
  • स्पोर्ट्स अपडेटः ऑस्ट्रेलिया मीडिया ने फिर साधा विराट पर निशाना, कहा...
  • बॉलीवुड मिक्स: कटप्पा ने खुद किया खुलासा, आखिर क्यों बाहुबली को मारा पढ़ें,...
  • आईएसआईएस के दो संदिग्ध कार्यकर्ता दिल्ली अदालत पहुंचे, स्वयं के दोषी होने की दी...
  • जरूर पढ़ें: इस शख्स ने 202 km घूमकर बनाया 'बकरी' का MAP,पढे़ं दिनभर की 10 रोचक खबरें
  • सुप्रीम कोर्ट का आदेश, एक अप्रैल से बीएस-3 मानक को पूरा करने वाले वाहनों की नहीं...
  • टीवी गॉसिप: पढ़ें, इस VIDEO में दिखेगा प्रत्युषा की मौत से पहले का सच!, यहां पढ़ें...
  • स्वाद-खजाना: नवरात्रि व्रत की रेसिपी, जानें कैसे बनाएं स्वादिष्ट पाइनेप्पल...
  • यूपी: सीएम योगी आदित्यनाथ ने सरकारी आवास में किया गृह प्रवेश, लखनऊ के 5 कालिदास...
  • लखनऊः लोहिया इंस्टीट्यूट में पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी को देखने पहुंचे...

BJP को मायावती की चुनौती : मतपत्रों के जरिए यूपी में फिर से कराएं चुनाव

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:21-03-2017 03:18:29 PMLast Updated:21-03-2017 03:18:29 PM

बसपा नेता मायावती ने आज बीजेपी को चुनौती दी कि अगर उसे उत्तर प्रदेश में जनता से जनादेश प्राप्त करने का पूरा भरोसा है तो वह राज्य में मतपत्रों का उपयोग करते हुए विधानसभा चुनाव कराए। साथ ही बसपा प्रमुख ने चुनावों में इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों का उपयोग खत्म करने के लिए एक कानून बनाए जाने की मांग भी की।

मायावती ने राज्यसभा की बैठक शुरू होने पर यह मुद्दा उठाते हुए कहा कि उनकी पार्टी ने कामकाज निलंबित कर इस मुद्दे पर चर्चा करने के लिए नियम 267 के तहत एक नोटिस दिया है। उन्होंने कहा कि हाल ही में उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव हुए हैं लेकिन इन चुनावों के नतीजे जनता का जनादेश नहीं बल्कि ईवीएम का जनादेश हैं।

ये भी पढ़ें: मोदी-जेटली से मिले योगी आदित्यनाथ, राम मंदिर मुद्दे पर कुछ नहीं बोले

उन्होंने कहा कि हमारे संविधान में लोकतंत्र की व्यवस्था है जिसके तहत संसद और विधानसभाओं में वह लोग पहुंचते हैं जिन्हें जनता चुनती है, न कि ऐसे लोग संसद और विधानसभाओं में पहुंचते हैं जिन्हें ईवीएम चुनती है।

बसपा प्रमुख ने कहा कि जब कांग्रेस सत्ता में थी तब भाजपा नेताओं ने ईवीएम के उपयोग पर आशंका जाहिर करते हुए कहा था कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों से स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव नहीं हो सकते। लेकिन आज भाजपा सत्ता में आ गई है तो उसके सुर बदल गए हैं और वह ईवीएम को सही ठहराती है।

ये भी पढ़ें: राज्यसभा: 2018 में एनडीए मजबूत स्थिति में, दो साल बाद होगा बहुमत!

उन्होंने कहा कि सत्ता में आने के बाद भाजपा अब ईवीएम को सही ठहरा रही है। उन्होंने कहा कि आज दुनिया के कई बड़े लोकतांत्रिक देशों में मतदान के लिए मतपत्रों का उपयोग किया जाता है और ईवीएम को वहां खारिज किया जा चुका है। मायावती ने आरोप लगाया कि ईवीएम में छेड़छाड़ की गई जिसकी वजह से, उनकी पार्टी के पक्ष में डाले गए वोट भाजपा के खाते में चले गए। 

सत्ता पक्ष के सदस्यों ने इस पर विरोध जताया तब मायावती ने कहा अगर आपकी आत्मा इतनी ही साफ है तो आप एक बार फिर मत पत्रों का उपयोग करते हुए चुनाव क्यों नहीं कराते। उन्होंने मांग की कि चुनावों में ईवीएम का उपयोग समाप्त करने के लिए संसद के वर्तमान सत्र में ही एक कानून बनाया जाना चाहिए।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: bsp chief mayawati says elections should again conduct in up
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड