class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केशव प्रसाद मौर्य: चाय बेचकर की पढ़ाई, 18 साल रहे प्रचारक 

केशव प्रसाद मौर्य: चाय बेचकर की पढ़ाई, 18 साल रहे प्रचारक 

उत्तर प्रदेश में भाजपा अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य अब यूपी के डिप्टी सीएम होंगे। धाकड़ छवि के मौर्य की पहचान एक संघर्षशील नेता के रूप में है। वर्तमान में केशव प्रसाद मौर्य फूलपुर सीट से सांसद हैं जहां से कभी देश पहले प्रधानमंत्री पं जवाहरलाल नेहरू तीन बार सांसद रहे। मौर्य के शुरुआती जीवन काफी संघर्षपूर्ण रहा हालांकि अब उनके पास करोड़ों की सम्पत्ति है।

चाय बेचकर की पढ़ाई 
केशव मौर्य कौशाम्बी (इलाहाबाद) के एक किसान परिवार में पैदा मौर्य को पढ़ाई के दौरान अखबार बेचने पड़े और चाय की दुकान भी चलाई। मौर्य संघ से काफी समय से जुड़े रहे हैं। बाद में वह विश्व हिन्दू परिषद से जुड़े और बजरंग दल में भी सक्रिय रहे। वह हिन्दुत्व से जुड़े मुद्दे जैसे राम जन्म भूमि आंदोलन, गोरक्षा आन्दोलन में भी प्रमुखता से हिस्सा लिया और इसमें जेल भी गए।

18 साल तक रहे प्रचारक 

विश्व हिंदू परिषद से जुड़े केशव 18 साल तक गंगापार और यमुनापार में प्रचारक रहे। 2002 और 2007 में लगातार दो विधानसभा चुनाव हारने के बाद वह 2012 में कौशाम्बी जिले के सिराथू विधानसभा चुनाव से विधायक चुने गए। 2014 लोकसभा चुनाव में फूलपुर से सांसद बने।

कैफ को हराकर बने सांसद 

47 साल के केशव प्रसाद मौर्य जिस फूलपुर से पार्टी के सांसद हैं, वहीं से जहां एक तरफ तीन बार देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू चुनाव जीते तो दूसरी तरफ पूर्वांचल के बाहुबली अतीक अहमद जैसे बाहुबली भी। लेकिन पिछले लोकसभा चुनाव में मौर्य ने तीन लाख वोटों से क्रिकेटर मोहम्मद कैफ को हराकर इस सीट को कब्जे में लिया।

दर्ज हैं आपराधिक मामले

मौर्य पर कई आपराधिक मामले भी दर्ज हैं। चुनाव में दिए हलफनामे के अनुसार, उन पर हत्या, दंगा भड़काने और धोखाधड़ी जैसे कई मामले दर्ज हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bjp up president kesav prasad maurya profile who is race in up chief minister