class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्कूलों में कॉपी-किताबें न बेची जाएं : सीबीएसई

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने गुरुवार को कॉपी किताबें, स्कूल ड्रेस और स्टेशनरी का सामान बेचने वाले स्कूलों को चेतावनी जारी की है। बोर्ड ने संबद्ध स्कूलों से कहा है कि वे न तो अपने परिसर में ऐसी चीजें बेचें और न ही चयनित दुकानों से इसे खरीदने के लिए बाध्य करें।

बोर्ड के उप सचिव (संबद्धता) के. श्रीनिवास ने सर्कुलर जारी कर कहा कि स्कूल परिसर से ही किताबें, स्कूल डे्रस, स्टेशनरी आदि खरीदने का दबाव बनाने वाले विद्यालयों पर कार्रवाई की जाएगी। उनकी मान्यता रद्द की जा सकती है।

एनसीईआरटी की किताबों के प्रयोग पर जोर : बोर्ड ने एनसीईआरटी की किताबों के इस्तेमाल पर जोर दिया है। बोर्ड को पिछले कुछ समय से शिकायत मिल रही थी कि कुछ स्कूल अन्य प्रकाशकों की किताबों को खरीदने का दबाव डाल रहे हैं। 

सीबीएसई के नियम 19.1 में कहा गया है कि कंपनी अधिनियम 1956 की धारा 25 के तहत पंजीकृत सोसाइटी, ट्रस्ट या कंपनी को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि स्कूल सामुदायिक सेवा के रूप में संचालित हो, न कि कारोबार की तरह। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: copy-books should not be sold in schools cbse