Image Loading sangeet som sardhana seat ordeal - Hindustan
मंगलवार, 28 मार्च, 2017 | 21:22 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • प्राइम टाइम न्यूज़: पढ़े अब तक की 10 बड़ी खबरें
  • धर्म नक्षत्र: पढ़ें आस्था, नवरात्रि, ज्योतिष, वास्तु से जुड़ी 10 बड़ी खबरें
  • अमेरिका के व्हाइट हाउस में संदिग्ध बैग मिलाः मीडिया रिपोर्ट्स
  • फीफा ने लियोनल मैस्सी को मैच अधिकारी का अपमान करने पर अगले चार वर्ल्ड कप...
  • बॉलीवुड मसाला: अरबाज के सवाल पर मलाइका को आया गुस्सा, यहां पढ़ें, बॉलीवुड की 10...
  • बडगाम मुठभेड़: CRPF के 23 और राष्ट्रीय राइफल्स का एक जवान पत्थरबाजी के दौरान हुआ घाय
  • हिन्दुस्तान Jobs: बिहार इंडस्ट्रियल एरिया डेवलपमेंट अथॉरिटी में हो रही हैं...
  • राज्यों की खबरें : पढ़ें, दिनभर की 10 प्रमुख खबरें
  • टॉप 10 न्यूज़: पढ़े देश की अब तक की बड़ी खबरें
  • यूपी: लखनऊ सचिवालय के बापू भवन की पहली मंजिल में लगी आग।
  • पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी को हार्ट में तकलीफ के बाद लखनऊ के अस्पताल...

संगीत सोम की सरधना सीट पर अग्निपरीक्षा

नई दिल्ली | हिन्दुस्तान टीम First Published:27-01-2017 10:13:17 PMLast Updated:27-01-2017 10:13:40 PM
संगीत सोम की सरधना सीट पर अग्निपरीक्षा

मुजफ्फरनगर दंगों के बाद आरोपों में घिरे भाजपा विधायक संगीत सोम अबकी बार फिर मेरठ की सरधना सीट से प्रत्याशी हैं। दंगे के बाद अपने बयानों के चलते संगीत सोम भाजपा में फायरब्रांड नेता के तौर पर उभरे, लेकिन अबकी बार यहां बन रहे समीकरणों के चलते उनकी मुश्किलें बढ़ी हैं।

संगीत सोम ने 2009 में सपा के टिकट पर मुजफ्फरनगर से लोकसभा चुनाव लड़ा था। तब वह जीत नहीं पाए तो पाला बदला और भाजपा में आ गए। 2012 में सरधना सीट से टिकट मिला। इस सीट पर करीब 24 गांव ठाकुर बाहुल्य हैं। सोम को इसका लाभ मिला और वह रालोद—कांग्रेस गठबंधन प्रत्याशी हाजी याकूब कुरैशी से करीब 12 हजार वोट से जीत गए। इस बार यहां सोम के सामने हाजी याकूब के बेटे इमरान याकूब बसपा के टिकट पर मैदान में हैं जबकि सपा ने अतुल प्रधान को ही दोबारा प्रत्याशी बनाया है। रालोद ने यहां वकील चौधरी को टिकट दिया है। यानी यहां दलों ने जातीय कार्ड इस तरह खेला है कि संगीत की मुश्किलें बढ़ गई हैं। यहां कुल दस प्रत्याशी चुनाव में हैं।

मुश्किलें
विपक्षी दलों ने खेला जातीय कार्ड, धु्रवीकरण के हालात नहीं बन रहे
कड़ी सुरक्षा के चलते लोगों से मिलना आसान नहीं
चुनाव प्रचार के दौरान क्वाल कांड की सीडी चलाने पर मामला दर्ज

घिर गए विवादों में
पैतृक गांव फरीदपुर में कवाल कांड की सीडी को लेकर आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज हो चुका है। जेड़ श्रेणी की सुरक्षा के चलते वोटरों और खास लोगों से मिलना थोड़ा मुश्किल हुआ है। इसे लेकर लोगों में नाराजगी भी।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: sangeet som sardhana seat ordeal
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
संबंधित ख़बरें