Image Loading irom sharmila has been engaging in house by bicycle - Hindustan
रविवार, 26 फरवरी, 2017 | 17:42 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • महाराजगंज में बोले अखिलेश यादव, जनता अभी तक मोदी के मन की बात नहीं समझ पाई
  • मन की बात में बोले पीएम मोदी, अब तक DIGI धन योजना के तहत 10 लाख लोगों को इनाम दिया गया
  • मन की बात में बोले पीएम मोदी, ISRO ने देश का सिर ऊंचा किया
  • सपा की धुआंधार सभाएं आज, लालू यादव भी प्रचार करने उतरेंगे मैदान में। पूरी खबर...
  • मौसम अलर्टः दिल्ली-एनसीआर, लखनऊ, पटना, देहरादून और रांची में रहेगी हल्की धूप।...
  • पढ़ें आज के हिन्दुस्तान में शशि शेखर का ब्लॉग: पानी चुनावी मुद्दा क्यों नहीं?
  • आज का हिन्दुस्तान अखबार पढ़ने के लिए क्लिक करें।
  • राशिफलः मिथुन राशिवाले आत्मविश्वास से परिपूर्ण रहेंगे और परिवार का सहयोग...
  • Good Morning: BMC चुनाव: कांग्रेस ने शिवसेना को समर्थन देने से किया इंकार, चुनाव आयोग ने...

इरोम शर्मिला साइकिल से घर-घर प्रचार कर रहीं

इंफाल राहुल करमाकर First Published:04-02-2017 11:48:22 PMLast Updated:04-02-2017 11:48:22 PM
इरोम शर्मिला साइकिल से घर-घर प्रचार कर रहीं

मणिपुर में चंदे की कमी से जूझ रहीं इरोम शर्मिला साइकिल से घर-घर प्रचार कर रही हैं। वह अक्सर 35 किलोमीटर साइकिल चलाकर राजधानी इंफाल से थोउबल पहुंचती हैं। फिर स्थानीय सामुदायिक केंद्रों में कार्यकर्ताओं की ओर से आयोजित जनसभाओं को संबोधित कर लोगों से पीपुल्स रिसर्जेंस एंड जस्टिस अलायंस (पीआरजेए) के पक्ष में मतदान करने की अपील करती हैं। थोउबल में ‘आयरन लेडी’ के नाम से मशहूर शर्मिला का मुकाबला मौजूदा सीएम और दो बार से कांग्रेस विधायक चुने जा रहे ओकराम इबोबी सिंह से है।

साथी प्रत्याशियों ने नहीं हारी हिम्मत : थंगमेबंद से पीआरजेए उम्मीदवार एरेंडो लेचोंबम के मुताबिक मणिपुर चुनाव के लिए पार्टी महज 3.1 लाख रुपये का चंदा जुटा पाई है। तीन लाख रुपये ऑनलाइन तो 10 हजार ऑफलाइन माध्यम से इकट्ठे हुए हैं। इस लिहाज से चुनाव मैदान में उतरे पांचों उम्मीदवारों के हिस्से में महज 60,200 रुपये आते हैं। सीमित राशि मिलने के बावजूद कार्यकर्ताओं के हौसले बुलंद हैं। लेचोंबम कहते हैं, प्रत्याशी पोस्टर, बैनर या होर्डिंग से प्रचार के बजाय साइकिल से घर-घर जाकर वोट मांगने पर जोर दे रहे हैं। स्थानीय कार्यकर्ता समर्थकों के घर के आंगन या सामुदायिक केंद्रों में मुफ्त में छोटी-छोटी जनसभाएं आयोजित कर लोगों को पीआरजेए की विचारधारा के प्रति जागरूक कर रहे हैं।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: irom sharmila has been engaging in house by bicycle
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
Jharkhand Board Result 2016
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
संबंधित ख़बरें