class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आदर्श ग्राम की चोरी में हिस्ट्रीशीटर का हाथ

आदर्शग्राम में हुई चोरी का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। आरोपी हिस्ट्रीशीटर है और कोतवाली ऋषिकेश में उस पर 25 अभियोग पंजीकृत हैं।

शुक्रवार को प्रभारी कोतवाली प्रशिक्षु आईपीएस निहारिका भट्ट ने 30 मई को आदर्श ग्राम में हुई चोरी का खुलासा कर दिया। बताया कि मामले में संजय निवासी कुम्हाराबाड़ा ऋषिकेश को आशुतोष नगर के तिराहे के पास से गिरफ्तार किया गया है। घटना के खुलासे के लिए लेकर पूर्व में टीम गठित की गई थीं। तब से पुलिस आरोपी संजय की तलाश कर रही थी। पुलिस के अनुसार संजय पुलिस की गिरफ्त से बचने के लिए दिल्ली, गाजियाबाद और हरियाणा में छिपता फिर रहा था।

आरोपी संजय ने चोरी की घटना में अपना हाथ होना कबूला है। आरोपी के पास से कान का झुमका, एक आधार कार्ड और नकद 1650 रुपये बरामद हुए हैं। आभूषण की पहचान पीड़िता जशोदा देवी ने की है। आरोपी संजय कोतवाली का हिस्ट्रीशीटर है। करीब 25 अभियोग आरोपी पर पंजीकृत हैं। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। जहां उसे जेल भेज दिया गया।

पुलिस का दूसरा खुलासा भी

ऋषिकेश। 30 मई को आदर्श ग्राम में प्रदीप नौटियाल के किराएदार जशोदा देवी ने चोरी की घटना के बाद तीन लाख रुपये व लाखों रुपये के जेवरात चोरी होने की बात पुलिस को बताई थी लेकिन पुलिस की तफ्तीश में मात्र पचास हजार रुपये ही एसबीआई की शाखा से निकालने की बात सामने आई। प्रभारी कोतवाल ने बताया कि बैंक पासबुक की जांच के बाद पुलिस ने सख्ती की तो महिला ने सच्चाई बता दी। पुलिस का कहना है कि 50 हजार रुपये की निकासी के बाद महिला गांव भी गई। जहां उन्होंने खर्च भी किया होगा। तो तीन लाख रुपये चोरी की बात झूठी निकली। जिस पर पुलिस ने महिला से नाराजगी भी जताई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Historysheeter,s hand in Aadarsh gram thieving