class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जल विद्युत परियोजना सिकिदिरी में ब्लैक मॉक टेस्ट

राज्य में ब्लैक आउट जैसी स्थिति से निपटने के लिए बुधवार को जल विद्युत परियोजना सिकिदिरी में ब्लैक मॉक टेस्ट का सफल परीक्षण किया गया। परीक्षण परियोजना प्रबंधक अमर नायक के नेतृत्व में किया गया।

इस मॉक टेस्ट के अंतर्गत रांची के हटिया-सिकिदिरी, नामकुम-सिकिदिरी, सिकिदिरी सब-स्टेशन व इनलैंड पावर प्लांट के पावर ग्रिड को फेल करके जीरो पावर कर दिया गया और ब्लैक आउट जैसी स्थिति उत्पन्न की गई। सिकिदिरी हाइडल से विद्युत उत्पादन कर सभी पावर ग्रिड को लगभग आठ मेगावाट पर बिजली आपूर्ति की गई। उक्त पावर ग्रिड द्वारा सभी थर्मल पावर हाउस को बिजली आपूर्ति कर विद्युत उत्पादन के लिए तैयार किया गया। परियोजना प्रबंधक ने बताया कि इस्टर्न रिजनल पावर कमेटी के दिशा निर्देश पर यह टेस्ट किया गया जिसे प्रत्येक छह माह में किया जाना है। राज्य में ब्लैक आउट जैसी स्थिति से निपटने के लिए हाइडल पावर संकट मोचक साबित होगा। सिकिदिरी राज्य का एक मात्र हाइडल पावर प्लांट है। परीक्षण में एसएलडीसी के अधीक्षण अभियंता शैलेश प्रकाश, परियोजना के कार्यपालक अभियंता संजय कुमार, सुरेंद्र प्रसाद, कनीय अभियंता गौरव कुमार, आरके विश्वकर्मा, केडी नारायण, बिरजू महतो, मेराज आलम, बिरेंद्र करमाली आदि शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:mock test in sikidiri hydel power project
From around the web