class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सिसई में शहीद जवान लोहरा उरांव को शहादत दिवस पर दी गई श्रद्धांजलि

सिसई में शहीद जवान लोहरा उरांव को शहादत दिवस पर दी गई श्रद्धांजलि

1971 के भारत-पाक युद्ध में शहीद हुए लोहरा उरांव के 46 वें शहादत दिवस पर एक दिसंबर को सिसई थाना रोड स्थित उनकी प्रतिमा पर सैकड़ों लोगों ने श्रद्धासुमन अर्पित कर शत-शत नमन किया। कार्यक्रम के शुभारंभ स्पीकर दिनेश उरांव ने शहीद लोहरा की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर किया।

उन्होंने कहा कि शहीदों की बलिदान कभी बेकार नहीं जाता। सिसई के बरगांव निवासी शहीद लोहरा उरांव ने 1961 में भारतीय सेना में भर्ती हुए थे। उनमें देश भक्ति की भावना कूट-कूट कर भरी हुई थी। 1965 और 1971 के युद्ध में दुश्मनों के छक्के छुड़ा दिए थे। 1971 की लड़ाई के दौरान पाकिस्तान युद्ध में शहीद हुए। वहीं कर्नल नीलांबर झा ने कहा कि फौज का एक-एक जवान देश सेवा व सुरक्षा के लिए अपना बलिदान देने का सदैव तैयार रहते हैं, ताकि भारत माता और देश की जनता सुरक्षित रहे। मौके पर सुबेदार ओझा उरांव, सूबेदार अहलाद लोहरा, नायक डीएन भगत, रामनिवास भगत समेत सैकड़ों लोग उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Tribute to martyrs Soldier Lohra Uraon in Sisai