Image Loading RU Non Teaching Remained On Mass Casual Leave - LiveHindustan.com
मंगलवार, 27 सितम्बर, 2016 | 22:45 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • भारतीय टीम में गौतम गंभीर की वापसी, कोलकाता टेस्ट के लिए टीम में शामिल
  • इस्लामाबाद में होने वाले सार्क सम्मलेन में भाग नहीं लेंगे पीएम मोदी: MEA
  • पंजाब-हिमाचल सीमा पर संदिग्ध की तलाश, पठानकोट में संदिग्ध की तलाश जारी, पुलिस ने...
  • पाकिस्तान के हाई कमिश्नर अब्दुल बासित को विदेश मंत्रालय ने किया तलब, उरी हमले के...
  • CBI ने सुप्रीम कोर्ट से बुलंदशहर गैंगरेप केस में कथित बयान को लेकर यूपी के मंत्री...
  • दिल्लीः कॉरपोरेट मंत्रालय के पूर्व डीजी बी के बंसल ने बेटे के साथ की खुदकुशी,...
  • मामूली बढ़त के साथ खुला शेयर बाजार, सेंसेक्स 78.74 अंको की तेजी के साथ 28,373 और निफ्टी...
  • US Election Debate: ट्रंप की योजनाएं अमेरिका की अर्थव्यव्स्था के लिए ठीक नहीं, हमें सब के...
  • हावड़ा से दिल्ली की ओर जा रही मालगाड़ी पटरी से उतरी, सुबह की घटना, अभी रेल यातायात...
  • क्रिकेटर बालाजी 'रजनीकांत' के फैन हैं, आज बर्थडे है उनका। उनकी जिंदगी से जुड़े...

सामूहिक अवकाश पर रहे आरयू के शिक्षकेत्तरकर्मी

रांची। प्रमुख संवाददाता First Published:23-09-2016 09:38:00 PMLast Updated:23-09-2016 09:41:21 PM
सामूहिक अवकाश पर रहे आरयू के शिक्षकेत्तरकर्मी

रांची विश्वविद्यालय के 15 अंगीभूत कॉलेजों के शिक्षकेत्तरकर्मी छठे वेतनमान लागू करने व अन्य मांगों को लेकर शुक्रवार को सामूहिक अवकाश पर रहे। उन्होंने विश्वविद्यालय के मुख्यालय में धरना दिया। झारखंड विश्वविद्यालय महाविद्यालय शिक्षकेत्तर कर्मचारी महासंघ, रांची प्रक्षेत्र संघर्ष समिति ओर से आयोजित इस प्रदर्शन में समिति के संयोजक सुदर्शन पांडेय, पवन जेडिया व अन्य शिक्षकेत्तरकर्मी शामिल थे। प्रदर्शनकारी कुलपति से वार्ता करना चाहते थे। लेकिन उस वक्त कुलपति सेंट जेवियर्स कॉलेज में पीजी भूगोल विभाग में आयोजित राष्ट्रीय सेमिनार में हिस्सा लेने गए थे। इससे नाराज शिक्षकेत्तर कर्मियों ने विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की।

कुलपति से हुई वार्ता

दोपहर लगभग 2.30 बजे कुलपति विश्वविद्यालय के मुख्यालय पहुंचे। उन्होंने प्रदर्शनकारियों को वार्ता के लिए बुलाया। शिक्षकेत्तरकर्मियों ने इस वर्ष 14 मार्च को हुई वार्ता में जिन बिंदुओं पर सहमति बनी थी, उनपर अब तक कार्रवाई न होने की शिकायत की। इसके तहत 1996-2000 तक पांचवें वेतनमान का बकाया भुगतान, एसीपी/एमएसीपी को लागू करने व सभी शिक्षकेत्तर कर्मचारियों को छठा वेतनमान लागू करना, आदि मांगें शामिल हैं। कुलपति ने कहा कि छठा वेतनमान का भुगतान करने में कितना व्यय आएगा, इसका आकलन किया जाएगा। साथ ही, प्रोन्नति संबंधी कार्रवाई शनिवार को शुरू करने का आश्वासन दिया। एसीपी/एमएसीपी के संबंध में कुलपति ने कहा कि इस पर 28 सितंबर को राजभवन में बैठक होगी। उसमें जो निर्णय होगा, उसी के मुताबिक कार्रवाई होगी। उन्होंने सुदर्शन पांडेय और सीनेट सदस्य पवन जेडिया को शनिवार को वार्ता के लिए बुलाया।

आमरण अनशन पर बैठेंगे

सुदर्शन पांडेय व पवन जेडिया ने कहा कि शनिवार को कुलपति से वार्ता में साकारात्मक परिणाम नहीं आए तो शिक्षकेत्तरकर्मी 27 सितंबर को आमरण अनशन पर बैठेंगे। प्रदर्शन में विजय कुमार शर्मा, अमरीश कुमार, शैलेंद्र पाठक, इंद्रनाथ भगत, एनएन भगत, मनोज कुमार, राम सिंह, अवधेश कुमार व 15 अंगीभूत कॉलेजों के शिक्षकेत्तरकर्मी शामिल थे।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: RU Non Teaching Remained On Mass Casual Leave
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड