Image Loading Palamu DC said, banks not show any interest in development work - LiveHindustan.com
रविवार, 25 सितम्बर, 2016 | 12:40 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • पैरालंपिक के दिव्यांग खिलाड़ियों ने सामान्य खिलाड़ियों से बेहतर प्रदर्शन...
  • देश में शोक और आक्रोश है, दोषियों को सजा जरूर मिलेगी: पीएम मोदी
  • #Kanpur TEST: पुजारा 78 रन बनाकर ईश सोढ़ी की गेंद पर आउट, स्कोर-228/4
  • KANPUR TEST: कप्तान कोहली 18 रन बनाकर आउट, स्कोर-214/3
  • KANPUR TEST: भारत का दूसरा विकेट गिरा, विजय 76 रन बनाकर आउट
  • पढ़िए, शशि शेखर का ब्लॉग: 'असली भारत के हक में'
  • #INDvsNZ: कानपुर टेस्ट के तीसरे दिन के 5 टर्निंग प्वाइंट्स, खेल की दुनिया की टॉप 5 खबरें...
  • मौसम अलर्ट: दिल्ली-NCR में गर्म रहेगा मौसम। लखनऊ, पटना और रांची में बारिश की...
  • सुबह की शुरुआत करने से पहले जानिए अपना भविष्यफल, जानिए आज कैसा रहेगा आपका दिन
  • सुविचार: मनुष्य का स्वाभाव है कि जब वह दूसरों के दोष देख कर हंसता है, तब उसे अपने...
  • Good Morning: पाक को PM का करारा जबाव, बदहाल यूपी पर क्या बोले राहुल, और भी बड़ी खबरें जानने...

पलामू में विकास कार्य में रुचि नहीं दिखा रहे हैं बैंक : डीसी

मेदिनीनगर (पलामू)। प्रतिनिधि First Published:23-09-2016 06:53:00 PMLast Updated:23-09-2016 06:56:23 PM

पलामू में विभिन्न विकास कार्यों में सरकारी और निजी क्षेत्र के बैंक रुचि नहीं ले रहे हैं। चालू वित्तीय वर्ष में पहले तिमाही का सिर्फ 46 प्रतिशत लक्ष्य बैंकों ने हासिल किया है। शुक्रवार 23 सितंबर को डीआरडीए के सभागार में डीसी ने जिले के सभी बैंकर्स और अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की।

बैठक में कई बैंकों ने भाग नहीं लिया। बैठक में सितम्बर महीने की रिपोर्ट की जगह बैंकों से जून तक की रिपोर्ट प्रस्तुत की। बैठक में यह पाया गया कि भारतीय स्टेट बैंक, वनांचल ग्रामीण बैंक और सेंट्रल बैंक को छोड़ कर सभी बैंक लक्ष्य से काफी पीछे हैं। कई बैंकों ने लक्ष्य का सिर्फ पांच प्रतिशत हासिल किया है।

डीसी ने लगाई सभी बैंकर्स को फटकार

विकास और ऋण वितरण में लक्ष्य को देखने के बाद डीसी अमित कुमार ने सभी बैंकर्स को फटकार लगाई और लक्ष्य को हासिल करने का निर्देश दिया। बैठक में पाया गया कि जिला का सीडी रेशियो 38 प्रतिशत है। स्वयं सहायता समूह के लिए 500 आवेदन में सिर्फ 100 का निबटारा किया गया है, एनआरएलएम के तहत सिर्फ छह लोगों को ऋण दिया गया है। समीक्षा के क्रम में पाया गया कि बैंक आम लोगों को ऋण देने में रुचि नहीं दिखा रहे हैं। साथ ही सर्टिफिकेट केस के मामले में पहल नहीं कर रहे हैं। मुद्रा लोन, प्रधानमंत्री स्वरोजगार योजना के लाभुकों को ऋण नहीं दिया गया है।

सभी विधानसभा क्षेत्र में केसीसी के लिए लगेगा कैंप

बैठक में डीसी ने छतरपुर, हुसैनाबाद, पाटन, तरहसी, विश्रामपुर, मेदिनीनगर में केसीसी के लिए तीन अक्टूबर को कैम्प लगाने का निर्देश दिया। कैम्प में स्थानीय विधायक के प्रतिनिधि और प्रशासनिक अधिकारी के देख रेख में लगेगा। कैम्प में केसीसी के लिए आवेदन लिया जाएगा और वहीं पर स्वीकृत किया जाएगा। पलामू में केसीसी वितरण लक्ष्य से काफी पीछे हैं। पहले तिमाही में 30 हजार की जगह सिर्फ सात हजार को केसीसी दिया गया है। बैठक में यह बात भी सामने आई की आईसीआईसीआई और बैंक ऑफ बड़ौदा मनरेगा मजदूरों का खाता आधार से जोड़ने में रुचि नहीं दिखा रहे हैं, साथ ही बैठक में भाग नहीं ले रहे हैं। बैठक में डीडीसी रविशंकर वर्मा समेत कई बैंक अधिकारी मौजूद थे।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: Palamu DC said, banks not show any interest in development work
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड